बेतिया । आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर सशस्त्र सीमा बल के जवानों की ओर से निकली साइकिल रैली सोमवार को बेतिया पहुंची। मनुआपुल में एक समारोह में साइकिल रैली में शामिल जवानों का स्वागत किया गया। सरस्वती विद्या मंदिर नरकटियागंज की छात्राओं ने स्वागत गान से जवानों का स्वागत किया। 44 वीं बटालियन के कार्यवाहक कमांडेंट अनिल कुमार ने कहा कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ को सभी लोग अलग-अलग ढंग से सेलिब्रेट कर रहे हैं। पूरा भारत एक साथ चल रहा है। साइकिल रैली के माध्यम से एसएसबी जवान देश की प्रगति के संदेश को जन जन तक पहुंचा रहे हैं। असम से निकली यह 2384 किलोमीटर की साइकिल यात्रा दिल्ली में समाप्त होगी। वही सेनानायक गुरविदर सिंह ने कहा यह देश की अलग अलग संस्कृति, रीति रिवाज, एकता, अखंडता की मिसाल है। उन्होंने देश को एक साथ जोड़ने के प्रयास में साइकिल रैली के सभी भागीदार के प्रति आभार जताया। बता दें कि सशस्त्र सीमा बल के जवानों की ओर से देश के विभिन्न हिस्सों से साइकिल रैली निकाली गई है। सशस्त्र सीमा बल का एक दल असम के तेजपुर सीमांत, दूसरा दल गुवाहाटी सीमांत, तीसरा दल सिलीगुड़ी सीमांत और चौथा दल पटना सीमांत में लगभग 125 जवान साइकिल रैली में शामिल हुए। आगे जाकर लखनऊ सीमांत के भी जवान साइकिल रैली में जुड़ जाएंगे। तेजपुर असम से रैली 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर राजघाट नई दिल्ली तक जाएगी। जवानों द्वारा साइकिल रैली के माध्यम से पूरे देशभर में गांधीजी के सपनों को साकार करने के लिए साफ-सफाई, पर्यावरण सुरक्षा, पौधारोपण, कोविड से सुरक्षा, प्रदूषण से मुक्ति के लिए जागरूकता फैलाई जा रही है। रात्रि विश्राम के लिए मनुआपुल से जवान नरकटियागंज के लिए रवाना हुए। मंगलवार की सुबह जवान फिर मनुआपुल आएंगे। मनुआपुल से मंगलवार को साइकिल रैली आगे बढ़ेगी। मौके पर डिप्टी कमांडेंट हरिमेंद्र कुमार दुबे, सचिन परासन सहित एसएसबी के कई जवान मौजूद रहे।

Edited By: Jagran