बगहा । थाना क्षेत्र के डीही में प्रधान शिक्षक अनिल सिंह हत्याकांड में तीन महीने बाद नया मोड़ ले लिया है। मृतक के मौसेरे भाइयों को जेल भेजने की कार्रवाई ने चर्चाओं का बाजार गरम कर दिया है। गिरफ्तार युवकों की मां सरोज सिंह मृतक शिक्षक की मौसी हैं। पिता विनोद सिंह सगे बड़े पापा हैं। हत्याकांड में मृतक के मौसेरे भाई निप्पू सिंह व टिक्कू सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। मृतक शिक्षक की मौसी सरोज सिंह अपने बेटों को निर्दोष बताते हुए धनहा इंस्पेक्टर को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। आवेदन में लिखा है कि मेरे देवर मणिद्र किशोर सिंह के पुत्र अनिल सिंह हत्या के कांड संख्या 113/21 में मेरे पुत्रों को गलत तरीके से जेल भेज दिया गया है। पुलिस के द्वारा पूछताछ के बहाने बुलाया गया है। मेरे पुत्रों के विरुद्ध न कोई साक्ष्य, न कोई सबूत और न आवेदन में नामजद है। एक पुत्र की दुर्घटना में खोने व दो पुत्रों को निर्दोष होते हुए भी जेल में जाने से हमारा परिवार सदमे में आ गया है। अगर हमें न्याय नहीं मिलता है तो, हम सभी परिवार के सदस्य पुलिस के कार्यशैली से तंग आकर सामूहिक रूप से आत्मदाह कर लेंगे। मेरे पति भी इस सदमे के कारण बिस्तर पकड़ चुके हैं।

बता दें कि 12 जुलाई को धनहा थाना क्षेत्र के डीही खास के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक अनिल सिंह की गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। अगले दिन सुबह उनका शव गांव के सरेह में गन्ने के खेत के समीप मिला था। मृतक के पिता के द्वारा अगले दिन ही गांव के तीन लोगों पर नामजद आवेदन दिया गया था। पुलिस हत्याकांड की अभी जांच कर रही है। बयान:-

आवेदन मिला है। हत्याकांड की जांच वरीय पदाधिकारियों के द्वारा की जा रहा है।

शशिशेखर चौहान, इंस्पेक्टर, धनहा पुलिस अंचल

Edited By: Jagran