बगहा। चौतरवा थाना क्षेत्र से अपहरण कर एक युवती की हत्या मामले को सुलझाने व घटना में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए एक टीम का गठन किया गया है।

टीम में बगहा एसडीपीओ कैलाश प्रसाद, बगहा पुलिस निरीक्षक अनिल कुमार सिन्हा, डीआइयू प्रभारी धर्मवीर कुमार भारती, चौतरवा थानाध्यक्ष शंभूशरण गुप्ता, धनहा थानाध्यक्ष मुन्ना कुमार व भैरोगंज थानाध्यक्ष लालबाबू प्रसाद को शामिल किया गया है।

एसपी किरण कुमार गोरख जाधव ने बताया कि टीम में शामिल सभी पुलिस पदाधिकारियों को आदेश दिया गया है इस पूरे मामले की आधुनिक अनुसंधान करें और घटना में शामिल लोगों को गिरफ्तार करें।

विदित हो कि 19 मई की रात चौतरवा निवासी जितेंद्र साह की पुत्री रोशनी कुमारी का अपहरण कर लिया गया था। इस संबंध में युवती के पिता के द्वारा 20 मई को चौतरवा थाने में अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। जिसमें चनपटिया थाने के चुहड़ी निवासी दिवाकर साह, पूनम देवी व विवेक कुमार सहित अन्य अज्ञात लोगों पर आरोप लगाया था कि उसकी पुत्री को उन्हीं लोगों के द्वारा अपहरण कर लिया गया है। इस बीच शुक्रवार की सुबह तिरहुत नहर से युवती की लाश बरामद हो गई। एसपी ने बताया कि टीम के द्वारा पूरे मामले की गहनता से जांच की जा रही है। जल्द ही घटना में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर मामले का पटाक्षेप कर लिया जाएगा। विधायक ने मृत सब्जी विक्रेता के स्वजनों को सरकारी मुआवजा शीघ्र दिलाने का दिया आश्वासन चौतरवा। बगहा विधायक राम सिंह ने शनिवार को बोलेरो की ठोकर से मृत सब्जी विक्रेता धुरी साह के शोकाकुल परिवार के सदस्यों से मिले। उसकी पत्नी ललिता देवी,पुत्री गुड़िया,निकी,कश्मीरी व पुत्र गोविदा को सांत्वना देने के बाद उन्हें आर्थिक सहायता दी।

मौके पर उपस्थित पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि आनंद शाही द्वारा भी शोकाकुल परिवार को आर्थिक सहायता दी गई है। विधायक ने बगहा सीओ उदय शंकर मिश्र से दूरभाष पर बातचीत कर कहा कि पीड़ित परिवार को शीघ्र सरकारी मुआवजा दिलाने की प्रक्रिया पूरी हो। वहीं इस कांड में चौतरवा थाना प्रभारी द्वारा 50 नामजद व 100 अज्ञात लोगों के विरुद्ध बोलेरो में आग लगाने ,पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी करने,कोरोना काल में भीड़ के रूप में अधिक संख्या में लोगों के जमा हो विधि व्यवस्था को बिगाड़ने को ले प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जिसे लेकर निर्दोष लोगों ने विधायक से शिकायत की थी। थानाध्यक्ष शंभुू शरण गुप्ता से बातचीत करके कहा कि दोषियों पर कार्रवाई हो परंतु किसी भी निर्दोष के खिलाफ कोई कार्रवाई अनुचित होगा। घटना की गंभीरता से जांच होनी चाहिए। इस दौरान तपन हालदार, विजय प्रसाद, उमाशंकर प्रसाद आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran