बगहा। शहरी पीएचसी में एक साथ पांच लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। आरटीपीसीआर रिपोर्ट के अनुसार शनिवार शाम में जिले से प्राप्त सूची में इनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. राजेश सिंह ने बताया कि सभी के नाम पता के अनुसार उनके घरों को चिन्हित कर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने का निर्देश स्वास्थ्यकर्मियों को दे दिया गया है। जारी किए गए सूची के अनुसार बगहा दो प्रखंड के विभिन्न गांवों व नगर के लोगों के साथ दो व्यक्ति एसएसबी के भी हैं। जिनको फोन के माध्यम से सूचित करते हुए मेडिकल टीम के द्वारा आवश्यक दवाएं भेजते हुए होम क्वारंटाइन रहने की सलाह दी गई है। उक्त सूची आरटीपीसीआर प्रणाली के माध्यम से किए गए जांच में शामिल लोगों की है। जबकि रेलवे स्टेशन सहित शहरी पीएचसी में हो रहे रैपिड एंटीजेन प्रणाली के लोगों का रिपोर्ट नेगेटिव आने से क्षेत्र के लोग राहत महसूस करने लगे थे। एकाएक शनिवार को जारी सूची के अनुसार रविवार को स्वास्थ्य कर्मियों में हड़कंप की स्थिति दिखी। कोविड-19 के वैक्सीन लगाने का कार्य जोरों पर चौतरवा। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए लोगों में वैक्सीन लेने की जागरूकता भी बढ़ती जा रही है। अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्यकेन्द्र पतिलार में रविवार तक कुल 389 लोगों को वैक्सीन लगाया जा चुका। चिकित्सा प्रभारी मो. युनूस ने बताया कि 24 मार्च से 31 मार्च तक 60 वर्ष से अधिक आयु के 169 लोगों को टीका लगा। वही स्वास्थ्य विभाग के निर्देश के आलोक में एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। इन चार दिनों में कुल 220 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। बताया कि इसमें सबसे अधिक स्वयं सहायता समूह की जीविका सदस्यों का सहयोग मिल रहा है। वही सदस्य सीमा देवी, मीना देवी, शांति देवी, शारदा देवी आदि ने बताया कि उनके द्वारा घर-घर जाकर कोरोना के संक्रमण व उसके भयावह परिणाम के बारे में बताया जा रहा है। साथ ही खुद महिलाओं को समझा बुझाकर वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा।