बगहा। बगहा दो प्रखंड के थरुहट क्षेत्र में इस साल आई बरसाती पहाड़ी नदियों में आई बाढ़ ने हरनाटांड़ में काफी तबाही मचाई है। बाढ़ का पानी अब उतर चुका है, लेकिन अब भी हर तरफ तबाही का मंजर दिख रहा है। कहीं खेतों में लहलहाते फसल बाढ़ में बह गए, तो कहीं बाढ़ के पानी के दवाब में सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं। लेकिन टूटी सड़कों की अब तक मरम्मती नहीं हो पाई है। इस कारण दर्जनों गांवों के लोगों की आवाजाही प्रभावित हो चुकी है। सबसे बुरा हाल महुअवा कटहरवा पंचायत अंतर्गत कटहरवा से हरनाटांड़ को जोड़ने वाली मुख्य सड़क का है। यह सड़क करीब आधा दर्जन से अधिक जगहों पर कटकर बाढ़ में बह गई है। बाढ़ का पानी उतर जाने के बाद अभी भी यह कटाव स्थल पर पानी का जमा रहने से दर्जनों गांवों के लोगों की आवाजाही प्रभावित हो गई है। बताते चलें कि हरनाटांड़ से बनकटवा व कटहरवा को जोड़ने वाली इस सड़क में छोटी भपसा के समीप बड़ा होम पाइप लगाकर बनाई गई पुलिया को बहा ले गई है। करीब महीना बीतने को है, लेकिन इसकी मरम्मती अभी तक नहीं कराई गई है। जिससे इस ओर से आवागमन पूरी तरह से प्रभावित है। ग्रामीणों ने कहा कि इस कटाव की सूचना स्थानीय प्रशासन को देने के बाद भी अभी तक कटाव स्थल पर भराई की दिशा में अब तक आवश्यक पहल नहीं की गई है। इस कारण कटहरवा से हरनाटांड़ जाने के लिए करीब पांच से छह किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करने की विवशता है। बाढ़ में बही हरनाटांड़-बनकटवा मुख्य पथ पर छोटी भपसा पर बनी पुलिया : लगातार हुई बारिश से पहाड़ी बरसाती नदियों में बाढ़ ने कई ग्रामीण सड़कों को ध्वस्त किया है। लेकिन संबंधित विभाग के द्वारा इन सड़कों की मरम्मत कार्य को लेकर उदासीन रवैया बढ़ता जा रहा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रखंड क्षेत्र के हरनाटांड़ से कुनई को जोड़ने वाली मुख्य सड़क से लेकर हरनाटांड़-कटहरवा दोन नहर व हरनाटांड़-बैरिया कला मुख्य सड़क के साथ करीब आधा दर्जन सड़कों में कई जगहो पर रेनकट हो चुका है। जिससे सड़कों के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है। बाढ़ के पानी के तेज बहाव से सड़क पर कई स्थानों पर किनारे की मिट्टी गायब है। यहां बता दें कि बाढ़ के चपेट मे आकर दर्जनों ग्रामीण कच्ची सड़के कट चुकी हैं। लेकिन इसकी मरम्मत का कार्य अब तक नहीं किए जाने से लोगों का संपर्क मुख्य सड़क सहित प्रखंड व अनुमंडल मुख्यालय की ओर आवागमन प्रभावित है। स्थानीय ग्रामीणों की माने तो यदि विभाग द्वारा समय रहते सड़कों की मरम्मत का कार्य नही कराया गया तो, कभी भी उक्त सड़कों पर आवागमन ठप हो सकता है। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि गत माह को आयी विनाशकारी बाढ़ से कटी सड़कों की मरम्मती कार्य के दौरान विभाग द्वारा मात्र खानापूर्ति की गई है। कहीं कहीं तो घटिया किस्म के राविश तथा मीठी पाक ईट के टुकड़े डाल कर जैसे-तैसे कार्य कर आवागमन के लायक बनाया गया है। जो आने वाले समय मे कभी भी कट सकता है तथा आवागमन बाधित हो सकता है। बयान : -

बाढ़ बरसात जिन सड़कों को क्षति पहुंची हैं, उनकी मरम्मत के लिए संबंधित विभाग को पत्राचार किया जा रहा है। पुलियों के निर्माण के लिए वरीय अधिकारियों को पत्राचार जाएगा।

दीपक कुमार मिश्रा, एसडीएम, बगहा।

Edited By: Jagran