बगहा । सिविल सर्जन डॉ. वीरेंद्र कुमार चौधरी ने कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर शुक्रवार को अनुमंडलीय अस्पताल की औचक जांच की। निरीक्षण के दौरान सीएस ने आपातकाल, ओपीडी, प्रसव कक्ष सहित मरीजों के वार्ड में उपलब्ध सभी सुविधा और संसाधन की समीक्षा की। इसके साथ ही अस्पताल की साफ-सफाई सहित शुद्ध पेयजल की भी जानकारी ली। इसके साथ ही डेडिकेटेड कोविड सेंटर में मरीजों के चिकित्सीय इलाज से संबंधित, बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सिजेनेटर, रौशनी के लिये लाइट ,पीने के लिये शुद्ध पेयजल व अन्य आवश्यक उपकरणों सहित स्वच्छता के लिये साफ सफाई आदि की जानकारी ली। इसके साथ ही आवश्यक निर्देश प्रभारी उपाधीक्षक डॉ. एसपी अग्रवाल को दिया। अस्पताल में विभागीय स्तर पर लगाए जा रहे ऑक्सीजन प्लांट की भी जांच सीएस ने की। इस दौरान उन्होंने कहा कि 10 अगस्त तक ऑक्सीजन स्टोरेज प्लांट से मरीज वार्ड में पाइप लाइन से मिलने वाले ऑक्सीजन को आरंभ कर देना है। मरीजों को बेहतर चिकित्सीय इलाज के साथ निशुल्क मिलने वाली दवा, इंजेक्शन, एक्सरे, अल्ट्रासाउंड जांच के साथ मरीजों को स्वच्छता के साथ नाश्ता एवं भोजन रोस्टर के अनुसार उपलब्ध कराने का निर्देश डीएस को दिया। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि मरीजों के चिकित्सीय इलाज में चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा किसी प्रकार की लापरवाही व उदासीनता बरतने वाले चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी को शिकायत मिलने पर जांचोपरांत मामला सत्य पाये जाने पर उन्हें चिन्हित कर उनके विरुद्ध कार्रवाई तय है। उन्होंने चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों की उपस्थिति पंजी के साथ-साथ रोस्टर ड्यूटी का भी अवलोकन किया। कोरोना संक्रमण के संभावित आने वाले तीसरे प्रकोप को देखते हुए सभी को अपडेट रहते हुए अभी से अलर्ट रहने का भी निर्देश दिया। सीएस ने बताया कि पदभार ग्रहण करने के बाद पहला निरीक्षण है। यह कवायद आगे भी जारी रहेगी। शिकायत सत्य पाए जाने पर कार्रवाई तय है। सरकार द्वारा उपलब्ध सुविधा, दवा आदि का शत प्रतिशत लाभ मरीजों को उपलब्ध कराने के लिए निर्देश दिया गया है। इस अवसर पर पर जिला से डॉ. आर. एस. मुन्ना समेत डॉ. के. बी. एन सिंह, डॉ. सुनिल कुमार, डॉ. नेमतुल्लाह, पीएचसी प्रभारी डॉ. एसएन. महतो, रोशन कुमार, रमेश रंजन सहित अन्य कर्मी मौजूद थे।

Edited By: Jagran