बगहा। बीते दिनों आई भीषण विभीषिका के चपेट में आकर बगहा दो प्रखंड के विभिन्न क्षेत्र काफी प्रभावित हुए हैं। कई जगहों पर पहाड़ी बरसाती नदियों ने अपना रुख ही मोड़ दिया है। जिससे जन जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। इस भीषण विभीषिका को देखते हुए वाल्मीकिनगर विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिकू सिंह ने त्वरित कार्रवाई करते हुए बाढ़ व कटाव से बचाव हेतु बाढ़ एक्सपर्ट टीम को प्रभावित क्षेत्रों के स्थल निरीक्षण के लिए बुलाया। इस दौरान शुक्रवार को विधायक प्रतिनिधि के रूप में बिनय सिंह के द्वारा बाढ़ एक्सपर्ट टीम को विधानसभा के उत्तरी क्षेत्र के समूचे बाढ़ व कटाव क्षेत्र का दौरा कराया गया। जहां बाढ़ एक्सप‌र्ट्स रमन कुमार के नेतृत्व में अभियंताओं की टीम ने बाढ़ व कटाव स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान वाल्मीकिनगर के सिचाई अंचल अधीक्षण अभियंता, शीर्ष कार्य प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता जमील अहमद, सहायक अभियंता, कनीय अभियंता सिकंदर कुमार व अभिषेक कुमार भी शामिल रहें। जिन्होंने चम्पापुर गोनौली पंचायत के मनोर नदी से प्रभावित गोनौली भथोहिया टोला, घुटरी भपसा से प्रभावित पचफेड़वा गांव, भपसा से प्रभावित हरनाटांड़ व महदेवा के साथ कोशिल नदी से प्रभावित मैनाहां नौतनवा, झिकरी पहाड़ी नदी से प्रभवित क्षेत्र देवरिया तरुअनवा के साथ करीब आधा दर्जन प्रभावित क्षेत्रों का स्थल निरीक्षण किया। जहां बाढ़ एक्सपर्ट रमन कुमार ने यथाशीघ्र बाढ़ व कटाव से बचाव हेतु बाढ़ संघर्षात्मक कार्य प्रारंभ करने का संबधित अधिकारियों को निर्देश दिया। इस संबंध में वाल्मीकिनगर विधायक धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ रिकू सिंह ने कहा कि पटना से आई बाढ़ एक्सपर्ट की टीम ने कटाव स्थलों का निरीक्षण किया है। बरसाती पहाड़ी नदियों के कटाव से बचाव हेतु बाढ़ संघर्षात्मक कार्य कर जानमाल की सुरक्षा का निर्देश दिया गया है। अभिताओं की टीम में जल संसाधन विभाग के बाढ़ एक्सपर्ट के साथ लगी हुई है। विधायक ने बताया कि बाढ़ एक्सपर्ट टीम को बाढ़ संघर्षात्मक व बाढ़ निरोधात्मक कार्य को समय से पूरा करने का निर्देश दिया गया है। ताकि आने वाले समय में क्षेत्र के लोगों को ऐसी विभीषिका का सामना दोबारा नहीं करना पड़े। इस मौके पर बीडीसी तेजप्रताप प्रसाद, गोलू चौरसिया, मणिभूषण साह, मनोज साह, भूपनारायण प्रसाद, तारकेश्वर काजी, मुखिया प्रतिनिधि संजय ओजहिया, चंदन सिंह व हरिहर काजी के साथ क्षेत्र के कई ग्रामीण मौजूद थे।

Edited By: Jagran