बेतिया। जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने महाशिवरात्रि, शबे-बरात व होली के त्योहार के आयोजन में खलल डालने की कोशिश करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है। सभी तरह के आयोजन पूर्ण शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराया जाना है। इसके लिए सभी प्रकार की तैयारियां ससमय पूर्ण करने की बात कही। इसके लिए सभी प्रशासनिक पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारियों को पूरी तरह चौकस रहकर अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निवर्हन करना होगा। वे बुधसवार को समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित समीक्षात्मक बैठक में अधिकारियों को इस बाबत निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि छोटी-छोटी घटनाओं पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है, इसके लिए संबंधित अधिकारी त्वरित गति से कार्रवाई करें। संभावित साम्प्रदायिक तनाव वाले स्थलों पर नजर बनाए रखने के साथ -साथ असामाजिक तत्वों, गड़बड़ी पैदा करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही पूर्व में जिन स्थलों पर इस साम्प्रदायिक तनाव वाली घटनाएं घटित हुई है, वहां पूरी तरह चौकसी बरतने व हर एक गतिविधि पर नजर रखने को कहा। पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र नाथ वर्मा ने पुलिस पदाधिकारियों को पूरी मुस्तैदी के साथ शांति व्यवस्था कायम रखने को कहा। सभी थानाध्यक्ष नियमित रूप से पेट्रोलिग करें, रात्रि गश्ती अनिवार्य रूप से करें। इसके अलावा एस ड्राइव चलाकर वारंटियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। धारा-107 के तहत कार्रवाई करने की बात कही। उन्होंने पुलिस पदाधिकारियों को असामाजिक तत्वों पर निगाह रखने का निर्देश दिया। किसी भी प्रकार का उपद्रव फैलाने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध विधिसम्मत कठोर कार्रवाई करने को कहा। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि गुडा पंजी में दर्ज व्यक्तियों का नियमित तौर पर परेड कराएं तथा उनपर पैनी नजर रखें। शांति समिति में युवा वर्ग को शामिल करें और अनिवार्य रूप से शांति समिति की बैठक संचालित करें। उन्होंने कहा कि शिवरात्रि त्योहार के अवसर पर कुछ स्थलों पर जुलूस निकाला जाता है। इस अवसर पर पुलिस पदाधिकारियों, पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति करते हुए पूरी सजगता के साथ ड्यूटी निभाएं। समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने बारी-बारी से मद्य निषेध, अवैध बालू उत्खनन, फर्जी चालान, प्रमादी मिलर, लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम, सीडब्लूजेसी/एमजेसी, एचआरएमएस की विस्तृत जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। इस अवसर पर सभी एसडीएम, सभी पुलिस उपाधीक्षक, सभी थानाध्यक्ष सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।