बेतिया । अपनी मांगों के समर्थन में पूर्व घोषित निर्णय के अनुसार बैंक कर्मियों को हड़ताल पर चले जाने के कारण सभी सरकारी बैंकों में ताले लटके रहे। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, केनरा बैंक समेत सभी बैंकों की शाखाएं बंद रहीं। बैंक अधिकारियों का कहना है नवंबर 2017 से वेतन समझौता लंबित है। 12 सूत्री मांगों को लेकर बैंक कर्मियों ने यह हड़ताल की है। स्थानीय बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि नवंबर 17 से ही वेतन समझौता को लंबित रखा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार यदि मांगों को नहीं मानती है, तो आगे के लिए भी रणनीति तय की गई है। बैंक कर्मियों का कहना है कि हमारी मांगे नहीं मानी गई तो मार्च में भी तीन दिन बैंक कर्मी हड़ताल पर रहेंगे। इतना ही नहीं पहली अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल भी किया जाएगा। उधर बैंकों में हड़ताल के कारण आम उपभोक्ताओं को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा। शुक्रवार को ग्राहक बैंकों के पास पहुंचे और वापस लौटते गए। हड़ताल से एटीम सेवा भी प्रभावित रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस