बेतिया। शहर के महारानी जानकी कुंवर महाविद्यालय के छात्रों ने शुक्रवार को आक्रोश मार्च निकाला। छात्रों ने नाबालिग से दुष्कर्म की घटना के खिलाफ बेतिया-अरेराज मुख्य पथ को घंटों जाम रखा। आक्रोश मार्च का नेतृत्व कर रहे छात्र नेता चंदन ¨सह ने कहा कि ऐसी घटना मानवता के नाम पर कलंक है। इस घटना से चंपारण की पवित्र धरती की छवि धूमिल हुई है। वहीं छात्र नेता पंकज चौबे ने कहा कि इस घटना से लोगों में आक्रोश है। बावजूद स्थानीय सांसद एवं विधायक की चुप्पी नींदनीय है। अगर पीड़िता को न्याय और उचित मुआवजा नहीं मिला तो छात्र संगठन रेल चक्का जाम करने के लिए बाध्य होगा। राष्ट्रीय आजाद मंच के प्रदेश प्रभारी विशाल कुमार मिश्र ने कहा कि प्रशासन की लापरवाही के कारण जिले में अपराध लगातार बढ़ रहा है। छात्राएं भी अपने को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। जब तक ऐसे कृत्य को अंजाम देने वालों के खिलाफ कड़ा कानून नहीं बनता तब तक ऐसी घटनाएं समाज को कलंकित करती रहेंगीं। इस घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। जिलाध्यक्ष शैलेश कुमार दूबे ने बताया कि लोगों में भय का माहौल है। मामलों की समय से जांच नहीं होने के कारण असामाजिक तत्वों के हौसले बुलंद हो जाते हैं। सभी युवाओं ने एक स्वर में कहा कि आरोपियों की फांसी अतिशीघ्र हो यदि समय से कानूनी कार्रवाई नहीं होती है तो हम छात्र युवा पुन: चरणबद्ध आंदोलन करने को बाध्य होंगे। सड़क से सदन तक आंदोलन होगा। इस दौरान युवाओं ने सरकार एवं स्थानीय शासन प्रशासन,सांसद विधायक के विरुद्ध जमकर नारेबाजी किया। मौके पर भूमिहार एकता मंच के सत्य प्रकाश,राम लखन ¨सह यादव कॉलेज के अध्यक्ष अभय कुशवाहा,एमजेके कॉलेज से राहुल कुमार, लोकेश कुमार, धीरज कुमार, आकाश राज, नवनीत ¨सह, सरफराज खान, विवेक गुप्ता, रिशु पटेल, सुधांशु यादव, शुभम कुमार अमित कुमार, राहुल यादव, आनंद ¨सह, राजन यादव, सुशांत राय, बिट्टू शाह सहित सैकड़ों युवा मौजूद रहे।

------------------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस