बेतिया। समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिह ने कहा है कि बिहार में 60 वर्ष से उम्र पूरा करने वाला कोई भी व्यक्ति अब पेंशन से वंचित नहीं रहेगा। इसके लिए राज्य सरकार ने 1800 करोड़ की व्यवस्था की है जिसे 1 अप्रैल से पूरे सूबे में लागू कर दिया गया है। वे शुक्रवार को परिसदन में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। समाज कल्याण मंत्री का पदभार लेने के बाद पहली बार जिला के दौरे पर पहुंचे मंत्री श्री सिंह ने जिले में समाज कल्याण विभाग की ओर से संचालित योजनाओं की समीक्षा की। समीक्षा के बाद उन्होंने बताया कि सामाजिक सुरक्षा के दायरे में आनेवाले सभी लोगों को अब पेंशन का लाभ दिया जाएगा। समीक्षा में पाया कि जिले में अभी तक मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना के लिए 48 हजार 132 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिसमें जांचोपरांत 10 हजार 68 लोगो को पेंशन की स्वीकृति देते हुए उनके खाते में राशि भेज दी गई है। मंत्री ने बताया कि इसी प्रकार पूर्व से विभिन्न पेंशन योजना में जिले में 2 लाख 32 हजार 615 पेंशनधारी हैं जिन्हें जून माह तक का पेंशन खाते में भेज दिया गया है। पेंशन राशि को अद्यतन करने का निर्देश दिया गया। कबीर अंत्येष्टि योजना के लिए सभी पंचायतों में अग्रिम राशि उपलब्ध कराते रहने का निर्देश भी दिया गया है। समीक्षा के दौरान बाल विकास परियोजना में कई त्रुटियां पाई गईं, जिसे सुधार करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने डीपीओ को प्रत्येक माह कम से कम 10 आंगनबाड़ी केंद्रों का एवं सीडीपीओ को प्रत्येक माह कम से कम 30 केंद्रो का निरीक्षण करने का निर्देश दिया। साथ ही निरीक्षण प्रतिवेदन मुख्यालय को भी भेजने का निर्देश दिया। मौके पर जदयू नेता अरुण कुमार, असलम खां हक्की, अजय कुशवाहा, राधाकृष्ण कुशवाहा, भगत पटेल आदि मौजूद रहे।

इनसेट

बाल गृह की व्यवस्था देख संतुष्ट हुए समाज कल्याण मंत्री

शुक्रवार को बेतिया पहुंचे समाज कल्याण मंत्री ने जिला बाल संरक्षण इकाई के अधीन संचालित बाल गृह एवं विशेष दत्तक ग्रहण केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में मंत्री ने बाल गृह में रह रहे बच्चों से बारी-बारी से उन्हें मिल रहे भोजन, कपड़े आदि की जानकारी ली व प्रसन्नता व्यक्त की। मंत्री ने बानूछापर स्थित विशेष दत्तक ग्रहण केंद्र का भी निरीक्षण किया। वहां बच्चों को दी जा रही सुविधाओं एवं देखभाल से प्रभावित हुए। मौके पर उपस्थित बाल संरक्षण इकाई की सहायक निदेशक ममता झा से केंद्र से जुड़ी कई जानकारी ली। उन्होंने नगर स्थित पांच आंगनबाड़ी केंद्रों का औचक निरीक्षण किया, जिसमें दो केंद्रों पर व्यवस्था ठीक नहीं पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की और व्यवस्था को अप टू मार्क करने का निर्देश दिया।

Edited By: Jagran