वैशाली। सदर थाना क्षेत्र के अदलपुर स्थित पुल के निकट से पुलिस ने डकैती की साजिश रचते तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए अपराधियों को रविवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सदर थाना के सहायक पुलिस अवर निरीक्षक प्रेम राम को सूचना मिली कि थाना क्षेत्र के अदलपुर स्थित पुल के नीचे कुछ अपराधी जमा होकर अपराध की साजिश रच रहे हैं। इस सूचना पर सहायक पुलिस अवर निरीक्षक पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे जहां दो बाइक लगाकर छह अपराधी अपराध की योजना बना रहे थे। पुलिस ने तीन अपराधियों को दो बाइकों के साथ गिरफ्तार कर लिया, जबकि तीन भागने में सफल हो गए।

पकड़े गए अपराधियों की पहचान सदर थाना क्षेत्र के लाल पोखर दिग्घीकला पश्चिमी गांव के अर्जुन सिंह के पुत्र विक्रम कुमार, उसके भाई दिलीप सिंह तथा इसी थाना क्षेत्र के चकबलधारी दिग्घीकलां पश्चिमी गांव के बिरजू पासवान के पुत्र वीरू कुमार के रूप में की गयी। तलाशी के दौरान विक्रम कुमार के पास से एक लोडेड देसी पिस्तौल तथा एक जिदा कारतूस बरामद किया गया। साथ ही मौके से दो बाइक भी बरामद की गई। पकड़े गए तीनों अपराधियों की निशानदेही पर विक्रम कुमार तथा वीरू कुमार के घर से बिना नंबर के एक-एक पल्सर बाइक बरामद की गई। पुलिस ने जब पकड़े गए तीनों अपराधियों से कड़ाई से पूछताछ की तब इन लोगों ने भागने वाले साथियों की पहचान सदर थाना क्षेत्र के पानापुर गौराही गांव के रामचंद्र पासवान के पुत्र जितेन्द्र पासवान, शंकर पासवान के पुत्र सूरज पासवान तथा चकबलधारी दिग्घीकलां पश्चिमी गांव के बालेन्द्र पासवान के पुत्र राहुल पासवान के रूप में की। सहायक पुलिस अवर निरीक्षक प्रेम राम ने इस मामले को लेकर विक्रम कुमार, दिलीप सिंह, वीरू कुमार, जितेंद्र पासवान, सूरज पासवान तथा राहुल पासवान के विरुद्ध सदर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई।

हत्या मामले में गिरफ्तार आरोपित युवक को भेजा जेल जागरण संवाददाता, हाजीपुर :

बलिगांव थाना क्षेत्र के बलिगांव गांव में हंसुली से एक व्यक्ति की हत्या कर दिए जाने के मामले में आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर रविवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार बलिगांव के शत्रुघ्न राम अपने परिवार में झगड़ा कर रहा था। उस रास्ते से जाने के दौरान गांव के ही कमलेश सहनी ने झगड़ा छुड़ाने के लिए शत्रुघ्न राम के घर पर जाकर उसे समझाने का प्रयास किया। इस दौरान शत्रुघ्न राम ने आक्रोशित होकर हंसुली से प्रहार कर कमलेश सहनी को बुरी तरह जख्मी कर दिया। इलाज के दौरान कमलेश सहनी की मौत मुजफ्फरपुर में एक निजी अस्पताल में हो गई। इस घटना को लेकर मृतक के भाई जीवछ सहनी ने बलिगांव थाना में शत्रुघ्न राम तथा उसके भाई भरत राम के विरुद्ध हत्या कर दिए जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए शत्रुघ्न राम को गिरफ्तार कर रविवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप