वैशाली। जदाहा प्रखंड क्षेत्र में एनएच-322 पर कल्याणी चौक के निकट से गोविदपुर गांव की ओर कई गांवों को जोड़ने वाली स्थानीय लोगों के लिए काफी महत्वपूर्ण पक्की सड़क विभागीय उदासीनता एवं संबंधित संवेदक की मनमानी के कारण वर्षों से अपनी दुर्दशा पर आंसू बहाने को मजबूर है। पूर्व में यह सड़क काफी जर्जर होकर विभिन्न स्थानों पर खतरनाक गड्ढे में तब्दील हो गई थी। वहीं बीते कई माह से सड़क के गड्ढों पर बारिश के कारण हुए जल-जमाव से स्थानीय लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पर रहा है। स्थानीय लोगों को इस सड़क से आना-जाना मुश्किल हो गया है। खतरनाक गड्ढों में तब्दील इस सड़क से लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर आने-जाने को विवश हैं।

बरसात से पहले विभागीय निर्देशानुसार संबंधित संवेदक के स्तर पर इस सड़क की मरम्मति एवं निर्माण कार्य उत्तर दिशा की ओर से शुरू किया जा चुकी है। किसी कारणवश बीच में कार्य बाधित होने एवं शिथिलता के कारण अब तक इस सड़क की मरम्मति कार्य पूर्ण नहीं किया जा सका है। वर्ष 2012 में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से इस सड़क का निर्माण कराया गया था। तत्पश्चात वर्षों से यह सड़क जर्जर होकर स्थानीय लोगों के लिए परेशानी का कारण बना हुआ है। वर्तमान में मुख्यमंत्री ग्रामीण अनुरक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत कल्याणी चौक से यदुनंदनपुर तक लगभग ढाई किलोमीटर तक में सड़क निर्माण के लिए कार्य एजेंसी कार्यपालक अभियंता ग्रामीण कार्य प्रमंडल महनार को बनाया गया है। लगभग 51 लाख की प्राक्कलित राशि से इस सड़क का निर्माण कार्य बीते 30 नवंबर 2020 से प्रारंभ किया गया था।

विभागीय स्तर से लगाए गए बोर्ड पर कार्य समाप्ति की तिथि 29 अगस्त 2021 निर्धारित की गई है। जबकि पांच वर्षों तक रख-रखाव के लिए विभागीय स्तर से लगभग 63 लाख की राशि स्वीकृत की गई है। निर्माण कार्य में हो रही शिथिलता के कारण अब तक इस सड़क पर विभिन्न स्थानों पर बने खतरनाक एवं जानलेवा गड्ढों को भरे जाने का काम भी पूरा नहीं किया जा सका। नतीजतन बारिश के कारण इस सड़क पर विभिन्न स्थानों पर भयंकर जल-जमाव के पश्चात बने खतरनाक गड्ढे हो जाने से इस रास्ते से अपनी जान जोखिम में डालकर चलने को लोग विवश हैं।

कल्याणी चौक से जाने वाली सड़क महिसौर, चकसहौली, गोविदपुर चकमकई, गौसपुर, चकफरीदा, महीपुरा, सोहरथी आदि कई गांव को जोड़ते हुए पातेपुर प्रखंड क्षेत्र के कपसारा गांव स्थित 13 नंबर पुल के पास मिलती है। इसके कारण कई गांव के लोगों के लिए यह मुख्य सड़क है। जर्जर सड़क के निर्माण कार्य में शिथिलता को लेकर स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है। स्थानीय लोगों ने प्रशासन से शीघ्र समस्या के समाधान की गुहार लगाई है।

Edited By: Jagran