वैशाली । प्रखंड के पानापुर सुखानंद गांव स्थित नहर पर निर्मित पूल से शुक्रवार की शाम भैंस चराकर लौट रहे युवक की भैंस के बिदक जाने के कारण नहर में गिरने के चौबीस घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी बरामदगी शनिवार के देर शाम तक नहीं हो सकी। जिसके कारण स्वजन काफी परेशान दिखे। वहीं पूरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है। शनिवार को पूरे दिन नहर में एसडीआरएफ की टीम शव को खोजने में हलकान रही, परंतु शनिवार की शाम तक शव नहीं मिल सका।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नहर में जलकुंभी के लत्तर काफी दूर में है जिस कारण खोजने में काफी परेशानी हो रही है। वही स्थानीय ग्रामीण की मांग पर सीओ ने चेचर घाट से एक नाव की व्यवस्था कराई। जिससे ग्रामीण नहर में फैले जलकुंभी को काट रहे हैं ताकि शव को खोजने में मदद मिल सके। स्थानीय लोग शव को जलकुंभी में फंसने जी आशंका जता रहे है।

विदित हो कि शुक्रवार की शाम भैंस चराकर लाला राय का 18 वर्षीय पुत्र रंजन कुमार नहर होकर घर लौट रहा था कि अचानक भैंस बिदक गई। जिस कारण वह संतुलन खोकर नहर में जा गिरा। स्थानीय लोग आपने स्तर से शव को काफी खोजने का प्रयास किया परंतु सफल नही हो सके। शनिवार को प्रशासन के स्तर पर एसडीआरएफ की टीम को बुलाया गया। टीम भी शाम तक शव को खोजती रही परंतु सफलता नही मिल सकी। नहर में लबालब पानी भरे होने के कारण और जलकुंभी के लत्तर फैले होने के कारण शव को खोजने में दिक्कतें आ रही हैं। नहर के किनारे सैकड़ों की संख्या में स्थानीय ग्रामीणों की भीड़ पूरे दिन जुटी रही।

Edited By: Jagran