वैशाली। सूबे के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि गंडक नदी के पूर्वी किनारे के तिरहुत तटबंध को और मजबूत बनाया जाएगा। इसके लिए विभागीय स्तर पर कार्रवाई चल रही है। इससे वैशाली जिले और आसपास के इलाके में गंडक नदी से बाढ़ का स्थायी निदान हो जाएगा। मंत्री शनिवार को लालगंज में जहानाबाद बसंता एवं बलहा बसंता स्थित तिरहुत तटबंध का निरीक्षण करते हुए जायजा लिये। निरीक्षण के दौरान उनके साथ विधान पार्षद देवेशचंद्र ठाकुर, स्थानीय विधायक संजय कुमार सिंह, जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता, कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

निरीक्षण के दौरान विधायक संजय कुमार सिंह ने मंत्री को एक ज्ञापन सौंपकर जहानाबाद एवं बसंता बलहा घाट आदि घाटों पर कटाव रोकने के लिए प्रोटेक्शन वाल सहित बेड वार का निर्माण कराने अथवा नदी का सिल्ट निकालकर नदी की धारा को बीच नदी से प्रवाहित कराने की मांग की। उन्होंने तिरहुत तटबंध पर सड़क निर्माण कराकर इसे और मजबूत बनाने के साथ ही लालगंज स्थित जल संसाधन विभाग के निरीक्षण भवन कैंपस में खाली पड़ी जमीन पर विभागीय कार्यालय एवं कर्मचारियों का आवास निर्माण करने की मांग रखी। इस पर मंत्री ने विभागीय मुख्य अभियंता को आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

निरीक्षण के क्रम में नामीडीह में मुखिया भवेश सिंह, ललन सिंह, अजय सहनी, प्रयाग सहनी, अवधेश सिंह, नगर परिषद पूर्व अध्यक्ष नवीन गुप्ता, घनश्याम कुमार, जैकी सिंह, कुणाल कुमार, नवल किशोर कुंवर, बबलू सिंह, राजन कुमार, जदयू अति पिछड़ा प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष संजय मालाकार, दिग्विजय चौरसिया, विनीत कुमार, विनोद राम, अमन कुमार तथा अंजान पीर चौक पर जदयू जिलाध्यक्ष सुभाषचंद्र सिंह, पूर्व मुखिया मनीष शुक्ला, नागेश्वर राय, अभय कुमार डबलू आदि ने मंत्री एवं विधान पार्षद का स्वागत किया। वहीं जल संसाधन विभाग निरीक्षण भवन परिसर में मंत्री के साथ विधान पार्षद एवं विधायक ने पौधारोपण किया।

Edited By: Jagran