हाजीपुर, जागरण संवाददाता। स्थानीय सदर अस्पताल के नशामुक्ति केंद्र में बंदी के कालगर्ल के साथ मिलने के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने सजायाफ्ता बंदी, अस्पताल कर्मी और सुरक्षा गार्ड के साथ एक युवती समेत पांच को गिरफ्तार किया गया है। एसपी मनीष ने बताया कि सभी से पूछताछ के बाद नगर थाने में एक प्राथमिकी कराई गई है।

सदर एसडीपीओ ओमप्रकाश के नेतृत्व में गुरुवार की तड़के कैदी वार्ड में छापेमारी की कार्रवाई की गई थी, जिसमें पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार लोगों में सदर अस्पताल के तीन निजी सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं। एसपी ने बताया कि सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में एक सजायाप्ता कैदी अमित कुमार उर्फ गोलू यहां कैदी वार्ड के बगल स्थित एक कमरे में अवैध रूप से कब्जा कर रखा था।

अस्पताल में तैनात किया गए थे प्राइवेट सुरक्षा कर्मी

पुलिस को सूचना मिली कि कैदी वार्ड में देह व्यापार का रैकेट चल रहा है। गुप्त सूचना के आधार पर एसडीपीओ ओमप्रकाश ने गुरुवार की सुबह छापेमारी कर कैदी वार्ड से सुरक्षा कर्मी, अस्पताल कर्मी और एक लड़की को आपत्तिजनक स्थित पकड़ा है। उन्होंने बताया कि सदर अस्पताल में एक एनजीओ के माध्यम से प्राइवेट सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं। इनकी मिलीभगत से इस कृत्य को अंजाम दिया जा रहा था।

सुरक्षाकर्मियों की मिलीभगत से चल रहा था कारोबार

पकड़े गए सभी से नगर पुलिस पूछताछ कर रही है। एसपी ने बताया कि सदर एसडीपीओ की छापेमारी में यह मामला पकड़े जाने के बाद उन्होंने खुद अस्पताल के कैदी वार्ड का निरीक्षण किया है। मामले में नगर थाने में प्राथमिकी की गई है। उन्होंने बताया कि सजायाफ्ता कैदी अमित उर्फ गोलू कोलकाता में धारा 395 और 396 का आरोपित है। उसके विरुद्ध वैशाली जिले में भी मामला दर्ज है, जिसमें उसे यहां लाया गया है।

कैदी वार्ड में कर रखा था कब्जा

वह कुछ दिनों से कैदी वार्ड में रह रहा था। इस दौरान यहां तैनात सुरक्षाकर्मी और अस्पताल कर्मी की मिलीभगत से वार्ड के पास ही एक कमरे पर अवैध रूप से कब्जा जमा रखा था। उसी कमरे में उसे आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा गया है।

यह भी पढ़ें- Bihar: सदर अस्‍पताल में सजायाफ्ता कैदी मना रहा था रंगरेलियां, दूसरे राज्‍य से मंगाई गई थी कालगर्ल

Edited By: Chandra Bhushan Singh Shashi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट