वैशाली [जेएनएन]। बिहार के वैशाली जिले में बिदुपुर पुलिस ने थाना क्षेत्र के माइल गांव में हो रहे बाल विवाह को रुकवा कर दो मासूम जिंदगियों को बर्बाद होने से बचा लिया। इस दौरान पुलिस ने 17 वर्षीय दूल्हे राजा को हिरासत में लिया हालांकि मौके से दुल्हन फरार हो गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, गंगाब्रिज थाने के तेरसिया गांव के राजेन्द्र साह का 17 वर्षीय पुत्र पिंटू कुमार को उसके पड़ोसी राहुल कुमार एक दिन पहले ही बहला-फुसला कर घर से गायब कर दिया था। परिजनों ने काफी खोजबीन की। जब कोई जानकारी नहीं मिली तो थाने में शिकायत दर्ज करायी गई।

इधर शनिवार की देर रात्रि में बिदुपुर थाना क्षेत्र के माइल गांव में राजकिशोर साह के घर में एकाएक ग्रामीण काफी चहल पहल देख अचंभित हो गए। जब घर के अंदर प्रवेश किया तो देखा कि राजकिशोर साह अपनी नाबालिग पुत्री जो सातवें की छात्रा है,  की शादी जबरन आठवें वर्ग में पढ़ रहे पिंटू कुमार से आनन फानन में कर रहे थे। यह देख ग्रामीणों ने बिदुपुर पुलिस को सूचना दी।

ग्रामीणों की सूचना पर थानाध्यक्ष रीतेश कुमार मंडल पुलिस बल के साथ वहां पहुंचे। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि  पुलिस की गाड़ी देख भगदड़ मच गयी और जिस किसी ने भी पुलिस को देखा खिसकता नजर आया। पुलिस ने घर के अंदर प्रवेश कर दूल्हे राजा पिंटू कुमार को हिरासत में ले लिया। हालांकि लड़की भागने में सफल रही। पुलिस हिरासत में लड़का ने  बताया कि उसकी जबरन शादी करायी जा रही थी। इस मामले को ले बिदुपुर पुलिस ने गंगा ब्रिज थाने को सूचना दी।

इस सम्बन्ध में बिदुपुर थानाध्यक्ष रितेश कुमार मण्डल ने बताया कि उन्हें सूचना मिली कि माइल गांव में नाबालिग लड़के-लड़की की जबरन शादी करायी जा रही है। सूचना के सत्यापन के लिए छापेमारी की गई। लड़के से पूछताछ की जा रही है। जांचोपरांत आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

Posted By: Ravi Ranjan