वैशाली । कोरोना की वैक्सीन नहीं तो राशन नहीं की मुहिम को सफल बनाने को लेकर प्रखंड मुख्यालय स्थित सद्भावना मंडल भवन व प्रखंड संसाधन केंद्र में जनप्रतिनिधि, सार्वजनिक जनवितरण प्रणाली विक्रेताओं व शिक्षकों के साथ पदाधिकारियों की बैठक शुक्रवार को हुई। कहा कि सभी को कोरोना वैक्सीन का निर्धारित लक्ष्य पूरा करना है। लक्ष्य को पूरा नहीं करने वाले लोगों का वेतन रोकने की कार्रवाई जा सकती है।

जानकारी के अनुसार चेहराकलां प्रखंड में कोरोना वैक्सीन को शत-प्रतिशत सफल बनाने के उद्देश्य से वैक्सीन नहीं तो राशन नहीं का नारा दिया गया है। जिसको लेकर दो सत्रों में जनप्रतिनिधि व सार्वजनिक जनवितरण विक्रेताओं की बैठक आयोजित की गई। सद्भावना मंडल भवन में आयोजित बैठक की अध्यक्षता प्रखंड विकास पदाधिकारी कुमुद रंजन ने की। बैठक में सीओ लवकेश कुमार, व्यापार मंडल अध्यक्ष अशोक कुमार, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अवधेश कुमार दास, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी डॉ. प्रतिभा कुमारी, बीपीएम रंजीत कुमार उपस्थित थे।

बैठक में प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों का मुख्य लक्ष्य शत-प्रतिशत कोरोना वैक्सीन जनता को दिलवाना है। प्रथम पाली में जनप्रतिनिधियों के माध्यम से जनता के बीच अफवाहों को दूर करते हुए कोरोना वैक्सीन के लिए जागरूकता फैलाने पर चर्चा की गई ताकि अधिक से अधिक जनता का झुकाव वैक्सीन के प्रति हो। स्वास्थ्य विभाग की ओर से कहा गया कि आयोजित शिविर में लोग वैक्सीन लेने में अपनी सहभागिता दर्ज कराएं ताकि कोरोना से जंग जीता जा सके।

वहीं दूसरी ओर बीआरसी भवन के प्रांगण में प्रखंड के सभी विद्यालयों के शिक्षकों की बैठक बुलायी गयी। जिसकी अध्यक्षता प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी दिनेश प्रसाद सिंह ने की। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में लेखा योजना के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी रामजी प्रसाद उपस्थित थे। बैठक में शिक्षकों को निर्देशित किया गया है कि अपने-अपने विद्यालय के पोषक क्षेत्र में जनता के बीच वैक्सीन के प्रति जागरूकता अभियान चलाकर अधिक से अधिक संख्या में लोगों को आयोजित शिविर स्थल पर टीकाकरण करवाएं ताकि निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति हो सके।

Edited By: Jagran