संवाद सूत्र, जंदाहा :

जंदाहा थाने के डीह बुचौली गांव स्थित बिद टोला में गत रात बकाया पैसा मांगने पर एक युवक की बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई और शव घर के पीछे जंगल में फेंक दिया गया। रविवार की सुबह युवक का शव आरोपितों के घर के पीछे जंगल में पाए जाने पर भारी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए। सूचना पर पहुंची जंदाहा पुलिस को आक्रोशित लोगों के कोपभाजन का शिकार होना पड़ा। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिससे पूछताछ जारी है। काफी मशक्कत के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।

मृतक मौजीलाल महतो के पिता देवलाल महतो ने इस मामले में ग्रामीण अजय चौधरी, वीरचंद्र चौधरी, धीरज चौधरी, बीरज चौधरी उर्फ राजा, लालबाबू चौधरी, पंकज चौधरी एवं नीरज चौधरी को नामजद आरोपित करते हुूए प्राथमिकी दर्ज कराया है। बताते है कि मौजीलाल महतो शनिवार के शाम 6 बजे आरोपी अजय चौधरी के घर में संचालित ताड़ी की दुकान पर ताड़ी पीने गया था। जब वह देर रात तक वापस नहीं आया तो मृतक के पिता ने वहां जाकर पुछताछ किया। लेकिन उसके घर चले जाने की बात बताई गई। देर रात्रि तक घर नहीं पहुंचा और स्वजन रात भर युवक की खोजबीन करते रहे। रविवार की सुबह अजय चौधरी के घर के पीछे जंगल में उसका शव होने का हल्ला वीरचंद्र चौधरी ने किया तो बड़ी संख्या में लोग जुट गए। मृतक के पिता का आरोप है कि उसके पुत्र की बेरहमी से मारपीट कर हत्या कर दी गई है और शव को अपने घर के पीछे जंगल में फेंक दिया गया है। आरोपी के घर एवं पीछे काफी खून पाया गया है। आरोप है कि अजय चौधरी मृत युवक से रुपया लिए हुए था। जिसे वापस करने की मांग करने पर दोनों के बीच बाताबाती हुई थी। आरोप है कि रुपये पचाने के लिए ही उसके पुत्र की मारपीट कर हत्या कर दी गई है।

बताते है कि मृत युवक 32 वर्षीय मौजेलाल महतो आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा में रेलवे में दैनिक मजदूरी का काम करता था। वह शुक्रवार को ही अपने घर आया था। मृतक को 3 पुत्र है। थानाध्यक्ष अजय कुमार ने बताया कि मृतक के पिता ने नामजद आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया है। तीन नामजद आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया गया है।