वैशाली। महनार प्रखंड की वासुदेवपुर चंदेल पंचायत के अंतर्गत महनार प्रखंड को जंदाहा एवं समस्तीपुर जिला के पटोरी को जोड़ने वाले वाया नदी पर पुल निर्माण को लेकर बनाए गए डायवर्सन के क्षतिग्रस्त होने से जंदाहा एवं पटोरी से सम्पर्क टूटने का खतरा पैदा हो गया है। वासुदेवपुर चंदेल पंचायत के अंतर्गत वाया नदी पर बना पुल जो जंदाहा एवं पटोरी को महनार से जोड़ता है, क्षतिग्रस्त होने के बाद इसको तोड़कर नया पुल बनाने का काम चल रहा है। लोगों की सहूलियत के लिए डायवर्सन बनाया गया था। यह डायवर्सन लगातार हो रही वर्षा एवं वाया नदी के जलस्तर बढ़ने से क्षतिग्रस्त हो गया है। पुल के डायवर्सन के क्षतिग्रस्त होने से महनार के इस क्षेत्र का संपर्क जंदाहा एवं पटोरी से टूटने का खतरा पैदा हो गया है।

महनार प्रखंड के वासुदेवपुर, हरपुर, फटिकबाड़ा आदि गांव के लोग इसी रास्ते जंदाहा एवं पटोरी जाते हैं। क्योंकि महनार बाजार इनके लिए बहुत दूर है लेकिन जंदाहा और पटोरी बाजार नजदीक पड़ता है, जिससे लोग यहां ही खरीदारी करना मुनासिब समझते हैं। पुल निर्माण का काम शुरू होने के बाद लोगों की सहूलियत के लिये बनाए गए डायवर्सन के क्षतिग्रस्त होने के बाद उसको दुरुस्त करने का काम किया जा रहा है। इस पर ईंट आदि डालकर ठीक करने करने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि जिस प्रकार क्षतिग्रस्त डायवर्सन की मरम्मत की जा रही है, उससे काम नहीं चलने वाला। लोगों ने आशंका जताई कि ज्यादा वर्षा होने या नदी के जलस्तर बढ़ने पर डायवर्सन पानी में बह जाएगा। डायवर्सन क्षतिग्रस्त होने पर महनार नागरिक संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह उर्फ गुल्लू सिंह ने कहा कि इस पर जल्द ध्यान नहीं दिया गया तो महनार के दर्जनों गांव का संपर्क समस्तीपुर जिला से टूट जाएगा।

Posted By: Jagran