झलकियां : हम बोलेंगे तो बोलेगा कि बोलता है, इसलिए आज हम कुछ नहीं बोलेंगे वैशाली : फिल्मी डॉयलाग को दुहराते हुए केंद्रीय पशुपालन एवं मत्स्य विकास मंत्री गिरिराज सिंह ने अपने कई छुपे राज का संकेत कर गए, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने विरोधियों पर जमकर निशाना भी साधा। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की सीएए-एनआरसी समर्थन जनसभा में नहीं बोलने की बात करते-करते भाजपा के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने भारतवंशी तेरा-मेरा नाता क्या, जय श्रीराम-जय श्रीराम का नारा भी बुलंद कराया। विरोधियों पर बरसते हुए उन्होंने विपक्षियों पर भारत माता को गाली देने का आरोप लगाया और कहा कि आप लोग इतनी जोर से भारत माता की जय का नारा लगाईए कि इसकी आवाज गद़्दार पाकिस्तान तक सुनाई दे। अपने संक्षिप्त संबोधन में केंद्रीय मंत्री ने भारतवंशियों को वापस लाने और अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ आजादी की लड़ाई लड़ने का आह्वान किया। कुर्सी आप नहीं ढ़ोईये, हम कुर्सी ढ़ोयेंगे : नंदकिशोर यादव

वैशाली : जनसभा में बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने संचालक से बीच में ही माइक थामकर उपस्थि जनसमूह से कहने लगे झगड़ा कुर्सी के लिए हो रहा है। विपक्षी पार्टियां सत्ता की कुर्सी हथियाने में लगी हुई है, लेकिन हमारे बीजेपी कार्यकर्ता सभा में आपके बैठने के लिए कुर्सी ढ़ो रहे हैं। दरअसल सभास्थल के समीप लोग अपने सिर पर कुर्सी लेकर बैठने जा रहे थे। मंत्री श्री यादव ने इसी दौरान यह बात जनसमूह से कही। युवाओं में जोश भरने के लिए उन्होंने कहा कि जवानी उसे कहते हैं, जो जमाने को बदल दे। हमारे युवाओं में काफी ताकत है और वह मोदी-शाह के साथ एकजुट होकर खड़ा है। मंत्री ने सीएए-एनआरसी की चर्चा करते हुए पाकिस्तान और बंगलादेश में आजादी के समय के हिदु आबादी और वर्तमान की हिदु आबादी पर चिता से लोगों को अवग कराया और किसी के भ्रमजाल में नहीं फंसने की सलाह दी। केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे को नहीं मिला बोलने का मौका वैशाली : केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सभा में बोलने का मौका नहीं नहीं मिला। वहीं राज्यसभा सांसद डॉ सीपी ठाकुर, आरके सिन्हा, गोपाल नारायण सिंह, सतीशचंद दूबे, लोकसभा सांसद रामकृपाल यादव, अजय निषाद, राजीव प्रताप रूडी, जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, बिहार सरकार के मंत्री सुरेश शर्मा आदि भी सभा मंच पर मौजूद थे, लेकिन उन्हे सभा संबोधित करने का मौका नहीं मिल सका। सभा का संचालन भाजपा के संगठन मंत्री नागेंद्र जी कर रहे थे, जबकि सह संगठन मंत्रभ् शिवनारायण जी भी मौजूद रहे। मंच की व्यवस्था केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने खुद संभाल रखी थी। उन्होंने अमित शाह सहित अन्य नेताओं का अभिनंदन भी किया। बिहार सरकार के कई मंत्रियों ने सीएए के पक्ष में रखी बातें वैशाली : बिहार सरकार के सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह ने जनसभा में पहला संबोधन शुरू किया। इसके बाद पर्यटन मंत्री डॉ प्रमोद कुमार सिंह, कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार और पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने सभा को संबोधित करते हुए सीएए और एनआरसी के पक्ष में अपनी बातें रखी। मंत्रियों ने इसको लेकर विरोधियों के अफवाह को नकारने और घर-घर जाकर लोगों को इस कानून के प्रति जागरूक करने का आह्वान किया। जनसभा को भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेणु देवी ने भोजपुरी में अपनी बातें रखी। सांसद रमा देवी ने कहा कि लालगंज में उनका मैके है, इसलिए सभा में उनके चाचा, भाई, भतीजे भी आए होंगे, उनका स्वागत करती हूं। वैशाली की लोजपा सांसद वीणा देवी ने अपने संसदीय क्षेत्र में आए गृहमंत्री और भाजपा नेताओं का अभिनंदन किया। जनसभा में खूब लगे मोदी-मोदी के नारे वैशाली : गृह मंत्री अमित शाह की सभा के दौरान मोदी-मोदी के नारे भी खूब लगे। जैसे ही श्री शाह का भाषण शुरू हुआ अमित शाह और नरेन्द्र मोदी जिदाबाद के नारे लगने शुरू हो गए। लोगों के हाथों में तिरंगा झंडा एवं भाजपा का झंडा लहरा रहा था। जनसभा में लोगों का कहना था कि वैशाली की गरिमा के अनुरूप बना सभा मंच एतिहासिकता को प्रदर्शित करती है। बिहार में यह पहला मंच है जो किसी यज्ञ के मंडप के अनुरूप वैशाली शांतिस्तूप के तर्ज पर बना है। जनसभा में वैशाली, मुजफ्फरपुर, पटना, दरभंगा, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर, सारण आदि जिलों से बड़ी संख्या में लोग जुटे थे और नेताओं का भाषण सुना। बुद्ध मूर्ति व अशोक स्तंभ से नित्यानंद राय ने किया स्वागत वैशाली : गृहमंत्री अमित शाह के मंच पर आगमन होते ही शंख ध्वनि एवं डमरु गर्जना के साथ उनका स्वागत किया गया। गृहमंत्री के साथ हेलीकॉप्टर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल एवं उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पहुंचे थे। इस मौके पर मंच सज्जा में लगे स्थानीय कलाकार हरिमोहन जी को केंद्रीय गृहमंत्री ने शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। वहीं नित्यानंद राय ने अमित शाह को बुद्ध मूर्ति और अशोक स्तंभ देकर सम्मानित किया। दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर ने उन्हें मखाना की माला और मिथिला पेंटिग से गृहमंत्री का स्वागत किया। शरणार्थी संघ के रमेंद्र कुमार साह ने भी स्वागत किया। एकाएक लोगों के हुजूम उतरने से घंटों फंसी रही जाम

वैशाली : जनसभा में बाहर से आने वाली गाड़ियों की पार्किंग व्यवस्था जिला प्रशासन ने अलग-अलग जगहों पर की थी। पटना और हाजीपुर की ओर से आने वाली गाडियों के लिए एतिहासिक राजा विशाल गढ, वैशाली हाईस्कूल एवं इसके आसपास तथा मुजफ्फरपुर की ओर से आने वाली गाडियों की पार्किंग व्यवस्था मध्य विद्यालय वैशाली एवं आसपास खाली पड़े जमीन में किए गए थे। इस दौरान पूरा वैशाली गढ़ क्षेत्र चार पहिया वाहनों से खचाखच भरा हुआ था। अमित शाह का भाषण समाप्त होते ही लोगों का हुजूम सड़क पर उतर पड़ा। वैशाली-लालगंज मुख्य मार्ग पर घंटों रूक-रूक कर जाम लगता रहा। प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस जवान इसको लेकर काफी हलकान होते रहे। काफी मशक्कत के बाद यातायात को सुचारू किया जा सका। सुरक्षा के मद्देनजर सभी होटलों को कराया गया था बंद सुरक्षा कारणों से आसपास के होटलों को कराया गया था बंद वैशाली : गृहमंत्री अमित शाह के वैशाली आगमन को लेकर चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किए गए थे वैशाली-लालगंज मुख्य मार्ग से अभिषेक पुषकरणी तट तक जाने वाली सडक के मुख्य द्वार पर बैरिकेटींग की व्यवस्था की गई थी। यहां से सभास्थल तक कोई भी गाडियों के जाने की अनुमति नहीं थी। पैदल ही लोगों को आने जाने दिया जा रहा था। वीवीआईपी गेट पर बिना पास के किसी को जाने की अनुमति नहीं थी। लोगों का मेटल डिटेक्टर से जांच-पड़ताल कर जाने की अनुमति दी जा रही थी। सभी सरकारी एवं निजी होटलों की जांच भी की गई। कार्यक्रम प्रारम्भ होने के पूर्व सभी होटलों को बंद कर दिया गया था। मुख्य मार्ग से लेकर सभा स्थल की ओर जाने वाली सडकों के किनारे बड़ी संख्या में महिला एवं पुरूष पुलिस बल तैनात किए गए थे

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस