वैशाली [जेएनएन]। बिहार के वैशाली स्थित सोनपुर में मंगलवार को दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई। घटना के दौरान पथराव व गोलीबारी में 10 लोगों के घायल होने की बात समाने आई है। घटना के दौरान जमकर तोड़फोड़ की गई। बाजार भी बंद हो गया। स्थिति तनावपूर्ण, लंकिन नियंत्रण में है।

विदित हो कि पेट्रोल-डीजल की मूल्‍य वृद्धि के खिलाफ सोमवार के भारत बंद के दौरान सोनपुर के गौतम चौक पर बंद समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई झड़प हुई थी। इस दौरान फायरिंग की की गई थी। घटना के सिलसिले में पुलिस ने जब दो युवकों को हिरासत में लिया तो दूसरे दिन भी हंगामा खड़ा हो गया। इस दौरान फिर दो गुटाें के बीच हिंसक झड़प हो गई।

भारत बंद के दौरान भिड़े दो गुट

सोमवार को भारत बंद के दौरान वैशाली में हंगामा खड़ा हो गया था। सोनपुर के गौतम चौक पर दो गुटों के बीच हुई झड़प में गाेलियां भी चलीं थीं। पुलिस ने किसी तरह स्थिति पर नियंत्रण किया था।

पुलिस ने अारोपितों को पकड़ा तो फिर भड़के लोग

मंगलवार को घटना के आरोपितों की खोज में जुटी पुलिस ने दो युवकों को हिरासत मे लिया तो एक पक्ष के लोग फिर भड़क गए। उन्‍होंने गौतम चौक से लेकर गोला बाजार तक की सभी दुकानों को जबरन बंद करा दिया।

इस बीच दूसरे पक्ष के लोग भी सड़क पर आ गए। दोनों गुटों के बीच जमकर पथराव होने लगा। बात यहीं नहीं रुकी, दोनों गुटों ने कई राउंड गोलियां भी चलाईं। फायरिंग में तीन युवकों के घायल होने की सूचना मिली है। उधर, पथराव में भी दोनों गुटों के आधा दर्जन से अधिक लोगों के सिर फूट गए। घायलों का इलाज विभिन्‍न सरकारी व निजी अस्पतालों में कराया गया।

धीरे-धीरे ऐसे बढ़ता गया हंगामा

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हंगामा पर उतरी युवकों की टोली ने सबसे पहले सोनपुर-हाजीपुर मुख्य सड़क को गौतम चौक के समीप जाम कर दिया। इसके बाद गोला गल्ला मंडी, गौतम चौक तथा गोला बाजार की सभी दुकानों को बलपूर्वक बंद करा दिया। तोडफ़ोड़ भी की गई। इसी बीच हंगामा कर रहे युवकों का जत्था पटना-छपरा हाईवे पर पहुंच गया और वहां उन्होंने रोड को जाम कर दिया।

इसी दौरान यह अफवाह फैली कि बाइपास के बगल में स्थित एक घर से हंगामा की वीडियोग्राफी की जा रही है। इस अफवाह के फैलते ही उपद्रवी तत्वों ने उस घर पर हमला बोल दिया। थोड़ी देर बाद वहां से गोलियों की आवाज आने लगी। इस घटना में घर के निर्भय कुमार उर्फ पप्पू तथा उसका भाई सुरेश कुमार व उदय कुमार घायल हो गये।

घटना की खबर पर बड़ी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस बीच दूसरे गुट के युवक भी हरवे हथियार से लैस होकर वहां पहुंच गए। इसके बाद हंगामा और तेज हो गया। जो भी छोटे-बड़े वाहन खड़े मिले उनके लाठी-डंडों से पीटकर क्षतिग्रस्त कर दिया गया।

इसके बाद प्रथम पक्ष के लोग भी वहां बड़ी संख्या में एकत्रित हो गए। दोनों पक्षों में फायरिंग शुरू हो गई। स्थिति को बेकाबू होते देख पुलिस ने भी हवाई फायरिंग की। हालांकि, पुलिस फायरिंग की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने दोनों पक्षों को बलपूर्वक खदेड़ा।

प्रखंड प्रमुख सहित 10 हिरासत में

सारण के डीएम सुब्रत कुमार सेन तथा एसपी हरि किशोर राय बड़ी संख्या में पुलिस जवानों व  वज्र वाहन के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। बड़ी संख्या में पुलिस को देखकर दोनों पक्षों के लोग भाग खड़े हुए। इसी दौरान मौके पर सोनपुर के प्रखंड प्रमुख श्याम बाबू राय समेत 10 लोगों को हिरासत में ले लिया गया।

घटनास्‍थल पर पुलिस तैनात

घटना की बाबत जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने बताया कि भारत बंद के दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने सौहार्द बिगाडऩे का प्रयास किया था। ऐसे तत्वों को चिह्नित किया जा रहा है। स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए घटनास्थल और आसपास के इलाकों में दंडाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस गश्त कर रही है।

Posted By: Amit Alok