सुपौल [जेएनएन]। बिहार के सुपौल जिले में वाहन चोर गिरोह के एक बड़े रैकेट का  पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। सुपौल सहित विभिन्न जिले से चोरी की गई छह मोटरसाइकिल की बरामदगी के साथ-साथ पुलिस ने चार वाहन चोर को गिरफ्तार किया है। गिरोह का मास्टरमाइंड पिपरा थाना क्षेत्र का पथरा निवासी दिव्यांग चंदन पासवान बताया गया है। वह दिन में भीख मांगने के बहाने रेकी करता था।

पुलिस अधीक्षक मृत्युंजय कुमार चौधरी ने बताया कि समस्तीपुर जिले में टेम्पू लूट की एक घटना हुई थी। जिसको लेकर समस्तीपुर जिले के सिंघिया थाने में कांड संख्या 30/18 दर्ज कराया गया था। मामले के अनुसंधान के क्रम में यह बात सामने आई कि लूटा गया टेम्पू राघोपुर थाना क्षेत्र में है। पुलिस द्वारा छुपा कर रखे गए टेम्पू के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया।

इसी क्रम में यह बात सामने आई कि सुपौल जिले में वाहन चोर गिरोह सक्रिय है और इस गिरोह द्वारा चोरी कर लाए गए वाहनों को नेपाल भेजा जाता है। सूचना के आधार पर पुलिस सक्रिय हुई और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सुपौल विद्यासागर के नेतृत्व में थानाध्यक्ष पिपरा शिवशंकर कुमार, थानाध्यक्ष किशनपुर चंदन कुमार एवं थानाध्यक्ष भपटियाही मुकेश कुमार मिश्रा को शामिल कर एक टीम बनाई गई।

उक्त टीम ने पथरा पिपरा निवासी चंदन पासवान के घर छापा मारा। चंदन पासवान की निशानदेही पर पिपरा थाना क्षेत्र के पथरा निवासी छोटू उर्फ सुभाष यादव एवं बौराहा करजाईन निवासी मोजाहिद आलम के घर से तीन मोटरसाइकिल बरामद किया गया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार अपराधकर्मियों ने स्वीकार किया कि वे लोग चोरी एवं लूट की गाड़ी की खरीद-बिक्री करते हैं। चंदन पासवान के निशानदेही पर पथरा निवासी संपत लाल यादव के घर से एक और चोरी की मोटरसाइकिल बरामद की गई।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में चंदन पासवान, छोटू उर्फ सुभाष यादव, मोजाहिद आलम एवं संपत लाल यादव को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही पथरा पिपरा निवासी पवन पासवान की संलिप्तता भी इस मामले में आ रही है जिसका सत्यापन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस उपलब्धि के लिए पुलिस उपाधीक्षक विद्या सागर को प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा जबकि पिपरा, किशनपुर एवं भपटियाही थानाध्यक्ष को रिवार्ड दिया जाएगा।

Posted By: Ravi Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस