सुपौल। दक्षिणी रेलवे गुमटी के समीप मंगलवार की शाम कुछ मनचलों द्वारा एक लड़की के साथ छेड़खानी की गई। साथ चल रहे भाई द्वारा प्रतिरोध करने पर मनचलों ने जमकर उसकी पिटाई कर दी। घटना की जानकारी मिलने पर जब उसके परिजन और आसपास के लोग इकट्ठे होने लगे तो मनचले वहां से भाग निकले। पुलिस को इसकी तत्क्षण सूचना दी गई। लेकिन प्रदर्शनकारियों के अनुसार पुलिस तत्काल घटना स्थल पर नहीं पहुंची। आक्रोशित लोगों ने मंगलवार की रात ही घटना स्थल स्थित सड़क को जाम कर दिया। रात होने के कारण लोग अपने घर लौट गए। लेकिन पुलिस की तत्परता न देख आक्रोश पनपता गया और बुधवार की सुबह लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।

शहरवासियों ने पहले दक्षिणी रेलवे गुमटी और सब्जी बाजार सहित हठखोला रोड को जाम कर दिया और नारेबाजी शुरू कर दी। लोगों की भीड़ बढ़ती गई और आंदोलनकारियों ने शहर में प्रदर्शन शुरू कर दिया। लोगों ने व्यापारियों से अनुरोध किया और दुकानें भी बंद हो गई। पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पदाधिकारी ने वार्ता का प्रयास किया लेकिन शुरुआती क्षण में तो आंदोलनकारी एक भी सुनने को तैयार नहीं हुए। लगभग चार घंटे बाद 24 घंटे के अंदर कार्रवाई के आश्वासन के बाद आंदोलनकारी माने।

---------

दर्ज हुआ मामला, एक नामजद की हुई गिरफ्तारी

छेड़खानी किए जाने को ले महिला थाना में चार नामजद के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया। पुलिस नामजदों में से मो. वजीर उर्फ गब्बर को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य की तलाश जारी है।

----------

पुलिस गश्त की होती खानापूरी

शहरवासियों की मानें तो पुलिस गश्त की खानापूरी मात्र हुआ करती है। सड़क पर दुकानें सजी होती है, ठेला लगा होता है, लोगों को आने जाने में परेशानी होती है बावजूद पुलिस की गाड़ी घूमकर चली जाती है कभी टोकाटाकी भी नहीं की जाती। बीच बाजार से तेज रफ्तार में बाइकर्स गुजर जाते हैं, तीन-चार की संख्या में एक ही मोटरसाइकिल पर सवार होते हैँ लेकिन कभी उन्हें पुलिस का कोई खौफ नहीं होता।

--------------

नहीं लग सका कहीं कैमरा

मनचलों तथा आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों पर नकेल कसने के उद्देश्य से पुलिस मुख्यालय से निर्देश आने के बावजूद भी किसी चौक चौराहे अथवा महिला संस्थानों के इर्द-गिर्द आज तक कहीं कैमरा नहीं लगाया जा सका। तत्कालीन पुलिस अधीक्षक के सख्त निर्देश के बाद कुछ दिनों तक महिला थानेदार व पुलिस द्वारा स्कूल कालेज के वक्त गश्त लगाई गई बाद में यह कार्रवाई भी बंद कर दी गई।

By Jagran