संवाद सूत्र, छातापुर(सुपौल): दीपावली की मध्य रात्रि थानाक्षेत्र के उधमपुर पंचायत में जमीन विवाद को लेकर हुए आगजनी की घटना में आधा दर्जन घर जलकर राख हो गया है। आगजनी इस घटना में लाखों की संपत्ति जल कर राख हो गई। पीड़ित परिवार से मिली जानकारी अनुसार दीपावली पर्व मनाकर सभी सदस्य सोए हुए थे। मध्य रात्रि करीब दर्जनों की संख्या में लोग हरवे-हथियार से लैस होकर आ धमके। जिसके बाद उनलोगों ने आगजनी कर भारी तांडव मचाया। इसमें शामिल लोगों ने स्थल को चारों दिशाओं से घेर रखा था। जिस कारण घरों में लगे आग को बुझाने आसपड़ोस के लोग भी भयवश स्थल पर नहीं पहुंचे और नजर के सामने सभी घर धू-धू कर जल गया। पीड़िता फुलो देवी, मसोमात सुनीता देवी, अरहूल देवी कई अन्य लोगों ने बताया कि आग•ानी की सूचना देने के लिए थाना को फोन किया लेकिन किसी ने फोन को रिसीव नहीं किया। जिसके बाद एसडीपीओ त्रिवेणीगंज को आगजनी की घटना की सूचना दी गई। सोमवार की सुबह थाना से पुलिस एवं अंचल से सीआई स्थल पर पहुंचे और घटना का जायजा लेकर आवश्यक जानकारी ली। रोते-बिलखते पीड़ितों ने बताया कि गांव के ही बाबुजी मेहता से उनलोगों ने 10 वर्ष पूर्व बसोबास हेतु आठ कट्ठा जमीन खरीदी थी। जिसका भुगतान भी कर दिया गया था। श्री मेहता ने जमीन पर घर बनवाकर दखल कब्जा भी दिला दिया था। लेकिन उक्त जमीन की रजिस्ट्री नहीं हुई थी। जमींदार की मृत्यु के बाद अब उसके वारिसान जमीन रजिस्ट्री नहीं कर जमीन से बेदखल करना चाहते हैं। इसको लेकर कई बार पंचायत भी हुई। एक पंचायत में स्थानीय विधायक भी शामिल हुए थे। लेकिन विवाद जस का तस बना रहा। आखिरकार श्री मेहता के वारिसानों ने सुनयोजित तरीके से अपराधियों को बुलाकर आगजनी की घटना को अंजाम दिया है। फुलो देवी ने बताया कि उसका लड़का मजदूरी के लिए बाहर में है। घर की सभी महिलायें व बच्चों सहित वह अपने वृद्ध पति लखींदर मंडल के साथ घर में थी। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप