-जिला मुख्यालय स्थित पुलिस केंद्र में मनाया गया संस्मरण दिवस

जागरण संवाददाता, सुपौल: जिला मुख्यालय स्थित पुलिस केन्द्र में सोमवार को संस्मरण दिवस मनाया गया। जहां शहीद पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि दी गई और नमन किया गया। इस अवसर पर पुलिस केन्द्र में पुलिस विभाग के तमाम आला अधिकारी मौजूद रहे। मौके पर पुलिस अधीक्षक मृत्युंजय चौधरी ने कहा कि आज हम यहां पुलिस संस्मरण दिवस के अवसर पर एकत्रित हुए हैं। आज के दिन हम अपने उन सहकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं जिन्होंने पिछले एक वर्ष के दौरान देश में अमन-चैन, भाईचारा व सामाजिक सहिष्णुता बनाए रखने के क्रम में कर्तव्य की बलिवेदी पर अपने प्राणों की आहुति दी। यह देश एवं हम देशवासी इनके बलिदान के समक्ष नतमस्तक हैं तथा हम सभी इनके ऋणी रहेंगे। कहा कि इस दिवस का ऐतिहासिक प्रसंग है कि आज ही के दिन वर्ष 1959 में भारत-चीन सीमा पर लद्दाख की बर्फीली उंचाई के बीच हॉट स्प्रिंग्स नामक स्थल पर केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल की एक छोटी टुकड़ी पर चीनी आक्रमणकारियों ने अचानक हमला कर दिया। वहां देश की सीमा की रक्षा पर तैनात पुलिस के 11 बहादुर जवान ने अंतिम सांस तक लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति दी। 1961 के पुलिस महानिरीक्षकों के सम्मेलन में यह निर्णय लिया गया कि इस दिन को पुलिस संस्मरण दिवस के रूप में मनाया जाय और तब से यह गौरवपूर्ण परम्परा नियमित रूप से निभाई जा रही है। पिछले वर्ष भारत में 292 पुलिस कर्मियों ने क‌र्त्तव्य की बलिवेदी पर अपने प्राणों की आहुति दी। बिहार में सात पुलिस कर्मी वीरगति को प्राप्त हुए। हम शहीद हुए उन बहादुर पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ उनके द्वारा स्थापित आदर्शों से प्रेरणा लेते हुए शौर्यपूर्ण सेवा भाव से क‌र्त्तव्य निर्वहन की प्रतिज्ञा लें। इस अवसर पर डीएसपी विद्यासागर, सदर थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह, पुअनि युगेश्वर सिंह सहित अन्य पुलिस कर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस