सुपौल। जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं। इसी नारे के साथ देश में कोरोना के साथ जंग लड़ी जा रही है। पर्व-त्योहार के बाद एक बार फिर से कोरोना का तेजी से फैलाव होने लगा है। कई महानगरों में तो स्थिति विस्फोटक हो चली है और इसके फैलाव को रोकने के लिए तरह-तरह के उपाय किए जा रहे हैं। कोरोना के फैलाव के पीछे सबसे बड़ा कारण सरकारी निर्देशों का पालन नहीं करना है। लोग न तो मास्क का प्रयोग कर रहे हैं और न ही सामाजिक दूरी रखना ही जरूरी समझ रहे हैं। जबकि इससे बचाव का एक मात्र रास्ता मास्क पहनना और सामाजिक दूरी का पालन करना है। विडंबना है कि सरकार के तमाम दिशा-निर्देश व जागरूकता को ले चलाए जा रहे कार्यक्रम के बावजूद कोरोना के फैलाव में कमी नहीं आ रहा। इस दिशा में देशवासियों को जागरूक होने की जरूरत है। जहां तक सुपौल की बात है तो सुपौल में भी संक्रमण का आंकड़ा 5147 पार कर चुका है। हालांकि एक्टिव मामले कम हैं, बावजूद इस दिशा में जागरूक रहने की जरूरत है। तब जाकर कोरोना संक्रमण के फैलाव पर अंकुश लग सकेगा। -कोरोना से बचाव के लिए सामाजिक दूरी रखना जरूरी है। व्यक्तिगत स्वच्छता और शारीरिक दूरी बनाए रखें -हाथों को बार-बार धोना है और सफाई का पूरा ध्यान रखना है -चेहरे और आंखों पर हाथों से टच नहीं करना है। यदि आपकी चेहरे को बार-बार टच करने की आदत है तो इसे तुरंत बदल डालें -छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंकें -उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंकें

-लॉकडाउन का ईमानदारी से पालन करें -अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएं जिसके लिए पौष्टिक आहार व योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें -दिनभर में कम से कम एक बार हल्दी वाले दूध का सेवन जरूर करें -गुनगुने पानी पीने की आदत डालें -अपने तापमान और श्वसन लक्षणों की जांच नियमित रूप से करें -मास्क जरूर पहनें -हाथ साफ करते रहें -सोशल डिस्टेंसिग का पालन करें।

-दो गज की दूरी रखें

सुपौल में कोरोना संक्रमण के आए नए मामले -15 नवंबर 2020-22

-16 नवंबर-09

-17 नवंबर-07

-18 नवंबर-07

-19 नवंबर-14

-20 नवंबर-04

-21 नवंबर-05

-22 नवंबर-04

-23 नवंबर-14

-24 नंबवर-26

(जिले में अब तक कुल कोरोना संक्रमण के 5147 मामले सामने आ चुके हैं। जबकि 10 लोगों की कोरोना संक्रमण से अब तक मौत हो चुकी है। वर्तमान में जिले में संक्रमण के कुल 79 एक्टिव मामले हैं)

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021