सुपौल। मौसम में लगातार आ रही गिरावट के साथ ठंड बढ़ने लगी है। ठंड से बचाव के लिए गर्म कपड़ों का पूरी तरह प्रयोग होने लगा है। कुहासा बढ़ने के साथ सुबह ठंड का असर होने से धूप की गरमाहट की जरूरत महसूस होने लगी है। गर्म कपड़ों की बिक्री में तेजी देखी जा रही है। शहर के चौक-चौराहों पर सजे गर्म कपड़ों की दुकानों पर खरीदारों की भीड़ बढ़ने लगी है। वहीं स्थानीय स्तर पर तैयार होने वाले रजाई की मांग बढ़ गई है। शहर के रजाई दुकानों पर रजाई बनवाने के साथ कंबल की खरीदारी होने लगी है। नए-नए डिजाइन के शॉल, टोपी, मफलर, स्वेटर की मांग देखी जा रही है। शहर के उन दुकानों पर खरीदारों की संख्या बढ़ने लगी है। मौसम को देखते हुए किसान आलू के अलावा दलहन, तेलहन की रोपनी में व्यस्त देखे जा रहे है।

ठंड के प्रभाव से बचाव के लिए दें विशेष ध्यान

मौसम में गिरावट के दरम्यान सर्दी बुखार सहित कई रोगों की शिकायत बढ़ जाती है। ठंड और अधिक बढ़ने की संभावना को देखते हुए बुजुर्गों व छोटे बच्चों के लिए इससे बचाव को सजग रहने की जरूरत होती है। गर्म कपड़ों की अनदेखी से बचना चाहिए। डॉ. निर्मल कुमार कहते है कि ठंड में अल सुबह मार्निंग वाक के प्रति खासकर बुजुर्गों को सचेत रहना चाहिए। छोटे बच्चों में निमोनियां की शिकायत बढ़ जाती है। डॉ. बीके पासवान ने कहा कि मौसम में आ रही गिरावट के अनुकूल भोजन का ख्याल रखा जाना चाहिए। पेट संबंधी रोगों में पेट दर्द, गैस, अपच की शिकायत पर सावधानी बरतना चाहिए।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021