संवाद सूत्र.,फारबिसगंज(अररिया): विगत 11 नवंबर को नेपाल के वराह क्षेत्र में मेला घूमने गए भाग कोलिया निवासी 16 वर्षीय युवक सोनू कुमार पासवान की संदिग्ध अवस्था में मौत मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर सोमवार को परिजनों सहित आक्रोशित लोगों ने फारबिसगंज जोगबनी सुभाष चौक मुख्य सड़क मार्ग को जाम करते हुए प्रदर्शन किया। आक्रोशित लोग सड़क मार्ग पर टायर जलाकर लगभग दो घंटा प्रदर्शन करते रहे। जिस कारण जोगबनी जाने वाली मार्गों में वाहनों की लंबी कतार लगी रही। मृतक सोनू के परिजन बीच चौराहे पर सोनू की तस्वीर पर फूल चढ़ा कर बैठे रहे एवं कार्रवाई की मांग करते रहे। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल आक्रोशित परिजनों को समझाने में लगे रहे। मौके पर मौजूद मृतक के पिता सुरेश पासवान ने बताया कि विगत 11 नवंबर को सोनू गांव के ही 10 लोगों के साथ नेपाल के वराह क्षेत्र मेला घूमने की बात कह कर निकला था। मेला देखने गए गांव के अन्य लोग तो घर लौट आए लेकिन जब सोनू के बारे में पूछा गया तो पता चला कि वह नेपाल के नोबेल अस्पताल में है। आनन-फानन में जब परिजन अस्पताल पहुंचे तो चिकित्सक ने बताया कि सोनू की मौत हो गई है। सोनू की मौत किस कारण से हुई यह अभी तक पता नहीं चल पाया है। परिजनों ने कहा कि सोनू के साथ गए अन्य लोग भी कुछ बताने से इंकार कर रहे हैं। उनका दावा है कि सोनू की हत्या कर दिया गया है और उसके हत्या में गांव के ही कुछ लोग शामिल हैं। परिजनों ने बताया कि सोनू के शव को लाने के बाद थाना में आवेदन दिया गया है लेकिन पुलिस अब तक कोई भी कार्रवाई नहीं की है। वहीं मौके पर पूर्व मुखिया सुरेश पासवान, वार्ड पार्षद प्रतिनिधि मंटू सिंह, बजरंग दल के पूर्व जिला संयोजक मनोज सोनी सहित अन्य लोगों के काफी समझाने के बाद एवं थानाध्यक्ष कौशल कुमार के अविलंब कार्रवाई के आश्वासन से परिजन शांत हुए और सड़क मार्ग में यातायात पुन: सुचारु हुआ। थानाध्यक्ष ने कहा कि मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। पूछताछ की जा रही है मामले में जो भी दोषी है उसे बख्शा नहीं जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप