-खेतों में बिछी फसल, बाजारों में जलजमाव से बढ़ी परेशानी।

फोटो फाइल नंबर-17एसयूपी-4

संवाद सूत्र, करजाईन बाजार(सुपौल): दिन-व-दिन करवट बदलते मौसम किसानों को बर्बाद करने पर तुली हुई है। मंगलवार की रात में भी आई आंधी के साथ बारिश ने क्षेत्र के किसानों के माथे पर चिता की लकीरें खींच दी है। क्षेत्र के करजाईन, मोतीपुर, बायसी, परमानंदपुर, भगवानपुर, रतनपुर आदि पंचायतों में आंधी-बारिश ने किसानों के लिए संकट खड़ा कर दिया। आंधी-बारिश से गेंहू, सूर्यमुखी, मकई को काफी नुकसान भी पहुंचा है। वहीं तेज हवा से आम एवं लीची को भी नुकसान हुआ है। क्षेत्र के किसानों ने बताया कि बारिश की वजह से गेंहू, सरसों व सूर्यमुखी की फसल खेतों में ही गिर गई है। वहीं गेंहू की फसल को काटकर तैयारी में जुटे किसानों के सामने भी संकट खड़ा हो गया है। आंधी-बारिश की वजह से फसल को काफी नुकसान पहुंची है। खेतों में पककर तैयार गेहूं की फसल हवा एवं बारिश होने से पूरी तरह खेतों में बिछ गई है। कई जगहों पर किसानों ने फसल काटकर खेतों में ही रख दी है। किसान फसल को मशीन से निकालने का इंतजार कर रहे थे कि अचानक बेमौसम बारिश ने उनके मसूबों पर पानी फेर दिया। बेमौसम बारिश की वजह से खेतों और खलिहानों में रखी फसल को लेकर किसान काफी चितित दिखाई दे रहे हैं। साथ ही आगे मौसम का मिजाज और बदल न जाए यह सोचकर किसान बेचैन हैं।

-------------------------

बाजार में जलजमाव की स्थिति

बारिश की वजह से बा•ारों में जलजमाव की स्थिति हो गई है। सड़कें कीचड़मय हो जाने से इस होकर निकले में पैदल राहगीरों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। खासकर करजाईन बा•ार में बारिश की पानी सड़क पर ही रुक जाती है। जिससे दुकानदार के साथ-साथ बाजार आनेवाले लोगों को भी काफी परेशानी होती है।

Posted By: Jagran