फोटो फाइल नंबर-12एसयूपी-6

संवाद सूत्र, पिपरा(सुपौल): शराबबंदी को लेकर जहां सरकार और जिला प्रशासन पूरी तरह सख्त है। वहीं दूसरी ओर शराब माफिया अपनी करतूत से बाज नहीं आ रहा है। नतीजा यह है कि आए दिन शराब पकड़ाने का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में एक बार फिर जिले के पिपरा थाना क्षेत्र के रामनगर गांव से भारी मात्रा में शराब को बरामद करने में पिपरा थाना पुलिस ने सफलता हासिल की है। थानाध्यक्ष चन्द्रकांत गौरी ने बताया कि नित्य दिन की तरह मंगलवार की रात्रि भी रात्रि गश्ती में निकले हुए थे कि जैसे ही रामनगर पहुंचा तो एक ऑटो चालक पुलिस गाड़ी देख कर गाड़ी की चाल को बढ़ा दिया। तत्पश्चात जब हमलोगों ने पीछा किया तो चालक ऑटो छोड़ कर भाग निकला। थानाध्यक्ष ने बताया ऑटो पर 11 बोरा में 300 एमएल की 990 बोतल नेपाली देशी शराब बरामद की गई है। बताया कि ऑटो रामनगर के ही ललन धरिकार के पुत्र मनोज धरिकार का है जो फिलहाल पुलिस के कब्जे में है। थाना के रामनगर गांव से बड़ी मात्रा में शराब को बरामद करने में जहां प्रशासन ने सफलता हासिल की। वहीं इस पूरे मामले ने एक बार फिर यह बात स्पष्ट कर दी है कि आए दिन सुपौल जिले में शराब की बड़ी खेप पहुंचने का सिलसिला भी जारी है। जिला प्रशासन चाहे लाख दावे कर ले परंतु जिले के विभिन्न क्षेत्रों में शराब कारोबार का सिलसिला बदस्तूर जारी है। हालांकि शराब कारोबार पर शिकंजा कसने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह अभियान चलाने में अपनी मुस्तैदी दिखा रही है। इसके बावजूद एक और सच्चाई से इनकार नहीं किया जा सकता है कि जिला प्रशासन को चुनौती देते हुए शराब कारोबारी अपनी करतूत से बाज नहीं आ रहे हैं और पूर्ण शराबबंदी कानून को खुली चुनौती दे रहे हैं। फिलहाल थानाध्यक्ष ने कहा कि शराब कारोबारियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा और विभागीय अधिकारी अपनी पैनी नजर बनाए हुए है।

Posted By: Jagran