सिवान, जेएनएन। बेंगलुरु में गुरुवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ तेजस से उड़ान भरकर गुठनी के श्रीकलपुर गांव निवासी एयर वाइस मार्शल नर्वदेश्वर तिवारी ने इतिहास रच दिया है। नर्वदेश्वर की इस सफलता से सिवान में जश्न का माहौल है। उनके परिवार में उनकी पत्नी अर्चना तिवारी, एक पुत्र और एक पुत्री हैं। नर्वदेश्वर की इस उपलब्धि पर उनकी मां विमला देवी, भाई मेजर कस्तूरी तिवारी और निगम तिवारी गौरवान्वित हैं। 

नर्वदेश्वर तिवारी ने जब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ तेजस लड़ाकू विमान से उड़ान भरी तो राजनाथ सिंह जहां  'तेजस' में उड़ान भरने वाले देश के पहले रक्षा मंत्री बने। वहीं, इस उड़ान में एक खास बात यह भी हुई कि जिस 'तेजस' से रक्षा मंत्री ने उड़ान भरी उसे बिहार का लाल एयर वाइस मार्शल नर्वदेश्वर तिवारी उड़ा रहे थे।

नर्वदेश्वर तिवारी बिहार के सिवान जिले के रहने वाले हैं उन्होंने जब 'तेजस' में रक्षा मंत्री को बैठाकर टेक ऑफ किया तो इसके साथ ही उन्होंने नया इतिहास रच दिया। सिवान जिले के गुठनी के श्रीकलपुर गांव निवासी एयर वाइस मार्शल नर्वदेश्वर तिवारी ने बोकारो से प्रारंभिक पढ़ाई पूरी की है, क्योंकि उनके पिता बोकारो में स्टील प्लांट में कार्यरत थे।

चचेरे भाई अधिवक्ता इष्टदेव तिवारी ने बताया कि नर्वदेश्वर ने बोकारो से प्रारंभिक पढ़ाई पूरी कर एमबीए किया। नर्वदेश्वर के पिता बोकारो में स्टील प्लांट में कार्यरत थे। एयरफोर्स ज्वाइन कर वहां से एमबीए किया। इसके बाद फ्लाइंग लेफ्टिनेंट बने। वर्तमान में वह एयर वाइस मार्शल के पद पर बेंगलुरु एयरफोर्स हेड क्वार्टर में तैनात हैं। 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा-रोमांचक रहा 'तेजस' का अनुभव

राजनाथ सिंह 'तेजस' लड़ाकू विमान में उड़ान भरने वाले पहले रक्षा मंत्री बन गए हैं। हवाई सफर के बाद उन्होंने कहा कि विमान में सफर का अनुभव बेहद रोमांचक रहा। उन्होंने अपनी उड़ान को सहज और आरामदायक बताया।

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप