सिवान। स्थानीय थाना क्षेत्र के धोबवलिया गाव में 31 अगस्त की रात्रि ऑनर किलिंग के मामले में पुलिस की जाच सुस्त पड़ती नजर आ रही है। घटना के छह दिन बीत जाने के बाद अभी तक पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट एवं सीडीआर आने का इंतजार है, जबकिसीडीआर घटना के एक दिन बाद ही मिल जाता है। लेकिन छह दिन बीत गए, सीडीआर नहीं आया। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी नहीं आया है। महाराजगंज क्षेत्र में इस तरह की घटना पहली है, इसमें पुलिस को चाहिए कि जितना जल्द हो घटना का उद्भेदन हो जाना चाहिए।

ज्ञात हो कि धोबवलिया निवासी स्व. बाकेलाल के पुत्र जितेन्द्र कुमार साह (24) वर्ष तथा ईश्वर चन्द्र शर्मा की पुत्री सबीता कुमारी (22) वर्ष लगभग दो वर्षो से एक दूसरे से प्रेम करते थे। इन दोनों की घर की दुरी मात्र 100 मीटर है। इन दोनों की हत्या कर घर से लगभग 1 किलोमीटर की दुरी पर एक सुनसान जगह पर शव को एक पेड़ से लटका दिया गया था। जब 1 सितम्बर की सुबह लोग शौच के लिये गये तो उनकी नजर पेड़ पर गई। जिसके बाद पता चला कि दोनों गाव के ही युवक-युवती हैं।

घटना के छह दिन बाद भी जितेन्द्र की माग शिवकुमारी कुंवर की स्थिती ठीक नहीं है। उसका रो- रोकर बुरा हाल है। केस के अनुसंधानकर्ता राकेश कुमार रंजन का कहना है कि इस काड में बचे तीन अभियुक्तों को पकड़ने के लिए कई जगह छापेमारी की गई है लेकिन वे फरार है। हर हाल में उनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट एवं सीडीआर नहीं मिला है। इसके लिए वे प्रयासरत हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस