सिवान। सीजीएम कोर्ट परिसर में दो ही ज्यूडिशियल स्टांप की मशीन होने से लोगों का कार्य समय पर नहीं हो पा रहा है। कई लोग कतार में खड़े होने के बाद भी बिना स्टांप लिए घर लौट जाते हैं। शुक्रवार को दो की जगह एक ही काउंटर चल रहा था। इस दौरान कुछ लोगों को स्टांप

की राशि से अधिक रुपये लेकर पिछले दरवाजे से स्टांप देने का काम किया जा रहा था। जो कतार में खड़े थे उनका नंबर नहीं आ रहा था। इसको लेकर कतार में खड़े लोगों ने हंगामा शुरू किया। जिसके बाद वहां कार्य कर रहे लोगों मामले को शांत कराया। ताइद द्वारिका लाल पांडेय, अनुज पांडेय, छोटू कुमार, गुरुचरण प्रसाद सहित कतार में खड़े कई लोगों ने बताया कि महिलाओं को भी स्टांप समय से नहीं दिया जा रहा है। इससे कोर्ट के कई कार्य प्रभावित हो रहे है। साथ शपथ पत्र पर स्टांप नहीं लगने से लोग पूरे दिन इंतजार कर लौट रहे हैं। मौके पर लोगों ने कहा कि यहां कम से कम पांच स्टां¨पग मशीन होनी चाहिए। साथ ही पारदर्शी तरीके से कार्य होना चाहिए। तभी लोगों को समय से स्टांप मिल पाएगा। इस समय स्टांप की छपाई स्पष्ट नहीं होने से कलम से रुपया अंकित किया जा रहा है। इससे स्टांप के नाम पर कर्मी घपला भी कर सकते है। ऐसा होगा तो सरकारी राजस्व की भारी हानि हो सकती है। इसे जिला प्रशासन को गंभीरता से लेने की जरूरत है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस