सिवान । कोरोना काल से ही बेपटरी हुई रेलवे को सही करने की कवायद तो कुछ महीने पहले से शुरू हो चुकी है, लेकिन इसे पूरी तरह से नियमित करने के लिए अब रेलवे युद्ध स्तर पर कार्य कर रहा है। कयास यह लगायी जा रही है कि रोजाना सफर करने वाले यात्रियों के लिए पैसेंजर ट्रेनों की शुरुआत एक मार्च से होगी।

इस संदर्भ में वाराणसी रेल मंडल के सीनियर डीसीएम के आदेश के आलोक में डीसीआइ गणेश यादव तैयारी में जुट गए हैं। डीसीआइ ने बताया कि अभी तैयारी की जा रही है। ट्रेन कब से चलेगी इसकी कोई भी जानकारी नहीं आई है। अनारक्षित टिकट काउंटर करीब नौ माह से बंद है। इसलिए कुछ सामान खराब हो गए हैं उन्हें बदला जा रहा है।

इन ट्रेनों के चलने की है उम्मीद

डीसीआइ ने बताया कि ट्रेन का परिचालन कब से किया जाएगा इसको लेकर अभी तक कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिली है। लेकिन सीनियर डीसीएम द्वारा एक पत्र मिला है जिसमें यह अंकित है कि पैसेंजर ट्रेन औरिहार स्टेशन से दोपहर 2.15 खुलेगी और वह ट्रेन छपरा स्टेशन पर 7.15 बजे आएगी। इसी तरह छपरा स्टेशन से सुबह 6.15 बजे डीएमयू ट्रेन खुलेगी और सिवान में सुबह 7.45 बजे पहुंचेगी, दूसरी डीएमयू ट्रेन सिवान से सुबह 7.55 बजे खुलेगी और गोरखपुर दोपहर 1.25 बजे पहुंचेगी। वहीं गोरखपुर से डीएमयू ट्रेन शाम 7.15 बजे खुलेगी और सिवान में रात 11.30 बजे पहुंचेगी। जंक्शन से एक अन्य पैसेंजर ट्रेन सुबह 5.25 बजे खुलेगी और छपरा में सुबह 6.50 बजे पहुंचेगी। इस तरह से सुबह 5.30 बजे से डीएमयू ट्रेन गोरखपुर के लिए खुलेगी, जो सुबह 9.15 बजे में पहुंचेगी।

11 महीने बाद फिर से अनारक्षित टिकट काउंटर पर दिखेगी भीड़

अगर एक मार्च से ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ तो जंक्शन के मुख्य द्वार पर स्थित अनारक्षित टिकट पर भीड़ देखने को मिलेगी। 11 माह बाद ये काउंटर गुलजार होंगे। यहां लोगों की भीड़ होगी, हालाकि इन ट्रेनों के लिए टिकट किस तरह से मिलेगी इसके बारे में अभी कुछ भी स्थिति स्पष्ट नहीं है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021