पटना/फुलवारीशरीफ : जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पटना पर बुधवार को सुरक्षा जांच के दौरान सीआइएसएफ ने एक यात्री के बैग से प्रतिबंधित बोर के 14 कारतूस बरामद किए गए। लगेज स्कैनिंग के दौरान उसके बैग में रखे कारतूसों पर सीआइएसएफ की नजर पड़ी। तत्काल उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी गई। सीआइएसएफ की सूचना पर एयरपोर्ट थाने की पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वह पटना एयरपोर्ट से इंडिगो की फ्लाइट से दिल्ली जा रहा था। वहां से उसे अबू धाबी जाना था। गिरफ्तार युवक सिवान के दरौंदा के पिनाथू पंचायत का मुखिया है। उसका नाम मो. नेयामुल हक है। वह अपने भाई की बेटी की शादी में शरीक होने के लिए अबू धाबी जा रहा था। नेयामुल के बैग से प्रतिबंधित बोर के कारतूस मिलने के बाद एयरपोर्ट पुलिस भी हरकत आ गई। पुलिस का मानना है कि उसके पास प्रतिबंधित बोर का हथियार भी जरूर होगा। भूलवश कारतूस उसके बैग में कपड़ों के साथ ही चले आये हैं। एयरपोर्ट पुलिस की मानें तो नेयामूल सिवान में होटल के व्यवसाय से जुड़ा है। इसके पहले भी वह जेल जा चुका है। पुलिस को सूचना मिली है कि वह अपराधी अयूब खान का करीबी है परंतु अभी तक इसका कोई प्रमाण नहीं मिला है। पुलिस इस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। इस संबंध में एयरपोर्ट पुलिस निरीक्षक अरुण कुमार ने बताया कि 9 एमएम प्रतिबंधित बोर है। इसकी केवल फौज, पारा मिलिट्री एवं बिहार पुलिस में ही आपूर्ति की जाती है। आमलोगों के इस्तेमाल के लिए यह बोर प्रतिबंधित है। पुलिस के अनुसार उसके पास नौ एमएम की पिस्टल भी जरूर होगी, जो बैग में ही रहती होगी। जाने के क्रम में उसने पिस्तौल निकाल ली परंतु गोलियां निकालना भूल गया होगा। नेयामुल के भाई काफी दिनों से आबू धाबी में ही रहते हैं। सिवान पुलिस से संपर्क किया गया है। सिवान में उसके खिलाफ कितने मामले दर्ज हैं इसकी तहकीकात की जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस