सिवान: खसरा रूबैला वैक्सीन टीकाकरण अभियान के तहत जिले के नौ माह से 15 वर्ष तक के 12 लाख 77 हजार 360 बच्चों को 15 जनवरी से टीकाकरण किया जाएगा। शुक्रवार को सदर अस्पताल सभागार में आयोजित मीडिया कार्यशाला में सिविल सर्जन डॉ. शिव चंद्र झा द्वारा इसके बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। झा ने बताया कि खसरा रूबैला वैक्सीन टीकाकरण अभियान के प्रति जन जागरूकता लाने में मीडिया की अहम भूमिका है। सभी सरकारी, गैर सरकारी, निजी विद्यालय,मदरसा के साथ साथ सभी आंगनबाड़ी केंद्रों एवं छूटे हुए क्षेत्रों में नौ माह से 15 वर्ष के सभी बच्चे-बच्चियों को खसरा रूबैला का टीका दिया जाना है। लगभग 12 लाख 77 हजार 360 बच्चों का लक्ष्य रखा गया है जिसको टीका दिया जाना है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. प्रमोद कुमार पांडेय ने बताया कि इस कार्यक्रम में लगभग 383 एएनएम, सभी आशा एवं आंगनबाड़ी सेविकाओं को लगाया गया है। ये जानलेवा बीमारी है जो वायरस से फैलता है। खसरा रोग के कारण बच्चों में विकलांगता या उनकी असमय मृत्यु हो सकती है। इसके साथ ही सबसे ज्यादा गर्भवती महिलाओं पर असर पड़ता है। गर्भवती महिलाएं यदि गर्भवस्था के आरंभ में रूबैला वायरस से संक्रमित हो जाती है, तो गर्भ में पल रहे बच्चों को जन्मजात रूबैला ¨सड्रोम विकसित हो सकता है। वहीं सदर अस्पताल तथा सभी सरकारी अस्पतालों में उक्त अवधि में एंबुलेंस के साथ रैपिड रिस्पांस टीम आवश्यक दवाओं तथा उपकरणों के साथ किसी भी आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार रहेगी। वहीं जिला शिक्षा पदाधिकारी चंद्रशेखर राय ने बताया कि स्कूलों में अध्ययन कर रहे बच्चों के माता पिता एवं अभिभावकों को अभियान की विस्तृत जानकारी दी गयी है। मौके पर डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन, एसएमओ डॉ. सुबीन सुब्रिमनियन,आइएमए के सचिव डॉ. शरद चौधरी, अशोक कुमार शर्मा आदि अधिकारी मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021