सिवान । लगता है कि जिले में अपराधियों के बुरे दिन आ गए हैं। कुख्यात राजा खान की हत्या के बाद सोमवार को कातिब नेहाल और राशिद अहमद सरकार की हत्या के आरोपित बड़कू मियां के अपराधी भाई हसरत अली उर्फ छोटकू मियां की भी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। शव हुसैनगंज थाना क्षेत्र के बघौनी गांव स्थित एक खेत से मिला। वह भी बघौनी का ही रहने वाला था। इसमें गांव का ही इसका साथी खुर्शीद अहमद भी घायल हुआ है। पुलिस इससे पूछताछ कर रही है।

बताया गया कि सोमवार को दिन में करीब 11 बजे हसरत अली का शव खेत में ग्रामीणों ने देखा तो पुलिस को सूचना दी। थानाध्यक्ष विनय कुमार ने बताया कि मुखिया ने सूचना दी कि गोली चल रही है। दोनों सूचनाओं पर एसआइ मनोज कुमार को मौके पर भेजा गया तो खुर्शीद आलम घायल पड़ा मिला था। उसने बताया कि उसे गोली मारकर कुछ लोग भाग गए हैं। कुछ दूरी पर हसरत अली का शव पड़ा मिला। बाद में जांच के दौरान पता चला कि किसी को गोली नहीं लगी है। हसरत की भी हत्या पीट-पीटकर ही की गई है। सदर अस्पताल में इलाज के दौरान चिकित्सकों ने भी बताया कि इसके शरीर पर कहीं गोली नहीं लगी है। लिहाजा इस मामले में उसकी भूमिका को संदिग्ध मानते हुए पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है।

बता दें कि मृतक हसरत अली उसी कुख्यात बड़कू मियां का भाई है, जिसने गत वर्ष कातिब नेहाल तथा इसी वर्ष मई में माहपुर निवासी फर्नीचर तथा बाइक शो रूम के मालिक राशिद अहमद सरकार की हत्या का मुख्य आरोपित है। वह इस समय जेल में है।

पुलिस ने भी प्रारंभिक जांच में पाया है कि इन दोनों को लोगों ने इतना पीटा है कि एक की मौत हो गई, दूसरा घायल है।

-

बोले एसपी

एसपी सौरव कुमार शाह ने कहा कि मृतक हसरत भी आपराधिक प्रवृत्ति का रहा है। इसका भाई बड़कू मियां तो कुख्यात है ही। हसरत के खिलाफ भी हत्या सहित कई मामले पहले के दर्ज हैं। किसी को धमकाया होगा या रंगदारी मांगी होगी तो लोगों ने एकजुट होकर उसकी हत्या की कर दी। इसमें कौन लोग शामिल हो सकते हैं, इसकी पड़ताल की जा रही है। घायल खुर्शीद से भी जानकारी लेने के लिए पूछताछ की जा रही है। पुलिस अभिरक्षा में उसका इलाज भी कराया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस