सिवान । थाना क्षेत्र के भागर गांव के समीप सिसवन-रघुनाथपुर मार्ग पर शुक्रवार की देर शाम ट्रक की चपेट में आने से बाइक सवार एक शिक्षक की मौत हो गई, जबकि दूसरे शिक्षक घायल हो गए। मृतक कचनार निवासी तथा मध्य विद्यालय भागर के शिक्षक राजेश प्रसाद बताए जाते हैं, जबकि घायल ललन प्रसाद हैं। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने शनिवार की सुबह ग्रामीणों ने सिसवन-रघुनाथपुर मार्ग पर कचनार व भागर गांव के समीप आगजनी कर सड़क जाम किया। सुबह 8 बजे ही ग्रामीण सड़क पर उतर गए व पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे थे। दोपहर 2:30 तक कचनार मोड़ के समीप जाम के कारण आवागमन पूरी तरह से प्रभावित रहा। जाम स्थल पर बीडीओ रंजीत कुमार सिंह एवं सीओ इंद्रवंश राय पहुंचे तथा लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन आक्रोशित भीड़ सिसवन थाना के सभी पदाधिकारियों को हटाने की मांग पर अड़ी रही। तब बीडीओ ने एसपी से मोबाइल पर बातचीत कर लोगों की भावना से अवगत कराया, जिस पर एसपी ने सिसवन थाना में पदस्थापित तमाम पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया, इसके बाद लोग शांत हुए और जाम को हटाया गया। इसके पूर्व शुक्रवार की देर शाम घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने सिसवन थाना के पुलिस पदाधिकारियों संग दु‌र्व्यवहार भी किया था। ग्रामीण शिक्षक की मौत की सूचना देने के लिए थानाध्यक्ष को फोन कर रहे थे, लेकिन उनके द्वारा कॉल नहीं उठाए जाने को लेकर आक्रोशित थे। घटना के दो घंटे बाद जब पुलिस की गश्त टीम अस्पताल पहुंची तो आक्रोशित ग्रामीणों ने सिसवन थाने की जीप को पलट दिया व मौके पर मौजूद एएसआइ विजय सिंह के साथ दु‌र्व्यवहार किया। बाद में बीडीओ रंजीत कुमार के हस्तक्षेप के बाद ग्रामीण शांत हुए।

बता दें कि शुक्रवार की शाम दोनों शिक्षक चैनपुर से अपनी बाइक से लौट रहे थे। तभी सिसवन-रघुनाथपुर मुख्य पथ पर भागर गांव के पास रघुनाथपुर की ओर से तेज गति से आ रहे ट्रक की चपेट में आने से शिक्षक राजेश प्रसाद की मौके पर मौत हो गई। जबकि उनके साथी ललन प्रसाद गंभीर रूप से घायल हो। उन्हें इलाज के लिए ग्रामीणों के सहयोग से स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। 25 वर्ष पूर्व शिक्षक के पिता की गंवई राजनीति में हो गई थी हत्या :

बताते चलें कि शिक्षक राजेश प्रसाद के पिता व शिक्षक सुदर्शन प्रसाद की भागर गांव में ही करीब 25 वर्ष पूर्व गंवई राजनीति में अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। राजेश की पत्नी शिक्षिका हैं, जो कि रघुनाथपुर प्रखंड में पदस्थापित हैं। उनका एक पुत्र नई दिल्ली स्थित एम्स से एमबीबीएस की पढ़ाई करने के बाद प्रशिक्षण हेतु लंदन में है। घटना के बाद पूरे गांव मे मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। आसपास के ग्रामीण स्वजनों को सांत्वना दे रहे थे। विद्यालय में शोकसभा का आयोजन :

शिक्षक राजेश प्रसाद के निधन से मर्माहत सिसवन प्रखंड के शिक्षकों ने शनिवार को विद्यालयों में शोकसभा का आयोजन कर उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। शिक्षक धर्मनाथ प्रसाद, अवकाश प्राप्त शिक्षक मृत शिक्षक के गुरु हरिशंकर उपाध्याय,धम्मू यादव, अखिलेश सिंह, लालबाबू प्रसाद, मुखिया बलिराम सिंह, इंजीनियर ओम प्रकाश यादव ने शिक्षक के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस