सिवान। अनुमंडल मुख्यालय में व्यवहार न्यायालय को शुरू कराने की मांग को लेकर अनुमंडल के अधिवक्ताओं का धरना सोमवार को भी जारी रहा। वे अनुमंडल कार्यालय के गेट के समक्ष भूख हड़ताल पर बैठे रहे और वे व्यवहार न्यायालय चालू कराने तक भूख हड़ताल पर रहने का निर्णय लिया। संघ के सचिव दिनेश कुमार ¨सह ने कहा कि हमलोग दो सप्ताह से धरना पर बैठे हैं, लेकिन हमलोगों को सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आखिर क्यों व्यवहार न्यायालय शुरू नहीं किया जा रहा है। हम अब सभी अधिवक्ता एक दो दिनों में उग्र आंदोलन का रूप देंगे। उन्होंने कहा कि जब तत्काल व्यवहार न्यायालय शुरू करने के लिए सारी चीजों को बना दिया गया है,आखिर क्यों हमलोगों के साथ ऐसा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। ज्ञात हो कि इसके पूर्व विधायक, सांसद, जिला जज आदि अधिवक्ताओं से वार्ता कर न्यायालय शुरू कराने का आश्वासन दे चुके हैं।भूख हड़ताल में अधिवक्ता आमोद कुमार भानू, राजकिशोर शर्मा, पीपी रंजन द्विवेदी,चितरंजन ¨सह, सुरेंद्र प्रसाद, गजेंद्र ¨सह, वशिष्ठ कुमार ¨सह,ओमप्रकाश, अनिल कुमार ¨सह, उमाकांत यादव, रश्मि कुमारी, केके ¨सह,चितरंजन ¨सह, सुरेंद्र ¨सह, प्रेमनाथ प्रसाद, अमरेश ¨सह, अखिलेंद्र ¨सह,जयप्रकाश ¨सह, करूणाकांत ¨सह, बसंत उपाध्याय, मनोज कुमार ¨सह,नीरज कुमार, प्रभात कुमार ¨सह, भारत भूषण भाष्कर, रविकांत उपाध्याय, विजय तिवारी आदि शामिल हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस