सिवान। मैरवा रेलवे स्टेशन के कंट्रोल पैनल में शनिवार को अचानक गड़बड़ी आ जाने से तीन घंटे तक पश्चिमी सिग्नल फेल रहा। इससे नवका टोला ढाला भी लॉक रहा। अप एवं डाउन की आधा दर्जन ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ। ढाला बंद रहने से इसके दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। जाम की सूरत का सामना करना पड़ा। गेटमैन के साथ कई बार लोग उलझ पड़े। करीब तीन घंटे बाद स्थिति सामान्य हुई। शनिवार की सुबह छह बजे अचानक पैनल में गड़बड़ी उत्पन्न हो गई तो रेलवे कर्मी परेशान हो उठे ।स्टेशन अधीक्षक रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने पहले इसे खुद ठीक करने की कोशिश की। जब गड़बड़ी समझ में नहीं आई तो इसकी सूचना कंट्रोल को दे दी। नियंत्रण कक्ष में तैनात अधिकारियों के निर्देश मिलते ही भाटपार से सिग्नल इंस्पेक्टर और सिवान से चीफ सिग्नल इंस्पेक्टर मैरवा पहुंचे और पैनल की गड़बड़ी को ठीक किया। नौ बजे स्थिति सामान्य हुई। इस बीच ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस 11124 डाउन और भटनी-छपरा पैसेंजर 55010 डाउन को आउटर सिग्नल के पहले ही कुछ देर तक रोक दिया गया। स्टेशन मास्टर द्वारा स्टार्टअप प्राधिकृत पत्र भेजने के बाद ही चालक ने गाड़ी को आगे बढ़ाया। इसी तरह मैरवा रेलवे स्टेशन पर गोदान एक्सप्रेस 11068 अप एवं इंटरसिटी एक्सप्रेस 15105 अप को निर्धारित समय से अधिक देर तक ठहरना पड़ा। तीन घंटे तक रेलकर्मी से लेकर यात्री तक परेशान दिखे। स्टेशन मास्टर के कक्ष में भी यात्रियों की भीड़ लगी रही।

Posted By: Jagran