सीतामढ़ी । रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के बघाड़ी गांव में घरेलू विवाद में एक नवविवाहिता ने फांसी लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। मृतका किरण देवी बघाड़ी गांव के स्व. योगी ठाकुर के पुत्र अशोक ठाकुर की पत्नी थी। महज डेढ़ वर्ष पूर्व ही दोनों का प्रेम विवाह हुआ था। मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने शव को सदर अस्पताल सीतामढ़ी भेज कर पोस्टमार्टम कराया है। पोस्टमार्टम से लौटने के बाद मृतका के नैहर वालों ने थाने में दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है। मृतका की मां पानो देवी के फर्द बयान के आधार पर दर्ज प्राथमिकी में पति अशोक ठाकुर, भाई संतोष ठाकुर, गोतनी मुक्ति देवी तथा सास 72 वर्षीया अनारसी देवी को नामजद किया गया है। घटना के बाद से सभी आरोपित फरार हैं। प्राथमिकी के अनुसार, मृतका थाना क्षेत्र के ठाहर गांव निवासी रत्नेश्वर दास की पुत्री थी। मृतका का पति अशोक ठाकुर ठाहर गांव में कोचिग सेंटर चलाता था। किरण उसी कोचिग सेंटर की छात्रा थी। ट्यूशन पढ़ने के दौरान ही दोनों के बीच संपर्क हुआ तथा दोनों ने अंतरजातीय विवाह कर लिया। उसे एक वर्ष का पुत्र भी है। शादी के कुछ दिनों बाद ही ससुराल पक्ष के द्वारा दहेज के लिए उसके साथ मारपीट की जाने लगी। बुधवार शाम मृतका के मायके वालों को मोबाइल फोन से सूचना मिली कि आरोपितों ने गले में फंदा डालकर उनकी पुत्री किरण की हत्या कर दी है। मायके वाले जब बघाड़ी गांव पहुंचे पुत्री का शव कमरे के दरवाजे पर पड़ा मिला। फिलहाल, संबंधित प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है।