सीतामढ़ी। बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से बोखड़ा प्रखंड मुख्यालय स्थित बोखड़ा पंचायत सरकार भवन में 30 अनुभवी राजमिस्त्रियों का सात दिवसीय प्रशिक्षण शुरू हुआ। प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ सीओ अवधेश कुमार श्रीवास्तव, आपदा बिभाग के ऑब्जर्वर शिवशंकर प्रसाद एवं प्रशिक्षण प्रभारी उत्कर्ष बिभोर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर सीओ श्रीवास्तव ने कहा कि भूकंप जोन में पड़ने वाले जिले में भूकंप रोधी मकान का निर्माण किया जाना अत्यंत आवश्यक है।इसी के तहत गृह निर्माण से पूर्व सतर्कता के तहत हमें भूकंपरोधी मकान ही बनाना चाहिए।ताकि भूकंप जैसी आपदा से बचाव हो।इसके लिए राज मिस्त्रियों को भूकंपरोधी मकान बनाने की प्रशिक्षण की शुरूआत किया गया है। प्रशिक्षक शिवशंकर प्रसाद ने राजमिस्त्रियों को भूकंपरोधी मकान निर्माण के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए प्रशिक्षण के प्रथम दिन मकान लेआउट करने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया की ईंट की जोड़ाई से पूर्व ईंट को पांच से छह घंटे भींगा कर ही प्रयोग करें। बताया गया की सात दिवसीय प्रशिक्षण के बाद राजमिस्त्रियों को सात सौ रुपये की दर से 49 सौ रुपए का चेक एवं प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। मौके पर मास्टर ट्रेनर अभिनव कुमार, अजय कुमार व भूलन कुमार के अलावे राजमिस्त्री मौजूद थे।

बाजपट्टी : प्रखंड के मनरेगा भवन के परिसर में सात दिवसीय राजमिस्त्री का प्रशिक्षण का शुभारंभ किया गया। प्रशिक्षण का शुभारंभ नारायण उपाध्याय,सीओ सैयद जफरुल होदा,ऑब्जर्वर सुमित गोस्वामी ट्रेनिग इंचार्ज गोविद गौरव ट्रेनिग इंजीनियर अभिषेक कुमार, मुस्लिम अंसारी व धर्मेंद्र कुमार ने दीप प्रज्वलित कर किया। सभी ने राजमिस्त्रियों को भूकंपरोधी मकान बनाने की तकनीक की जानकारी दी। प्रशिक्षण 7 दिन तक जारी रहेगा। अंत में सभी राजमिस्त्री ओ को प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा।मौके पर मोहन राय अरुण राय ,जयकिशोर राय, अर्जुन राय ,पवन राय, रमन राय, संतोष राय, विशुनदेव राय, गोपाल राय व पप्पू राय सहित अन्य राजमिस्त्री मौजूद थे।

चोरौत : भूकंपरोधी भवन निर्माण को ले प्रखंड के राजमिस्त्रियों का सात दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन मुख्यालय स्थित श्री लखन नारायण स्मारक उच्च विद्यालय के सभा कक्ष में किया गया । जिसका उदघाटन सीओ अरविद उद्धव व प्रखंड प्रमुख सतीश कुमार ने संयुक्त रूप से किया । बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के द्वारा दिए गए गैरआवासीय प्रशिक्षण में दर्जनों राजमिस्त्रियों ने भाग लिया । इस दौरान टीम के प्रभारी बिपीन कुमार, प्रीतम कुमार ट्रेनर, उजय कुमार, पवन कुमार पासवान ने भूकम्परोधी, बाढरोधी व चक्रवातरोधी भवन निर्माण के गुण बताए गए । ट्रेनर ने बताया कि बिहार मे सीतामढ़ी भूकम्प के तीसरे जोन में है । जो काफी खतरनाक है । ऐसे मे भूकम्परोधी घर होना जरूरी है। बताया कि प्रशिक्षण मे भाग लिए राजमिस्त्रीयों को सातवें दिन 49 सौ रुपये व प्रशस्ति- पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा । प्रशिक्षण में प्रखंड के सात पंचायत के राजमिस्त्री शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस