सीतामढ़ी। पुपरी अनुमंडल मुख्यालय सहित ग्रामीण इलाके में रविवार को बसंत पंचमी के अवसर पर मंदिरों में धार्मिक आयोजन के साथ पूजा अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। वहीं, विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में सरस्वती पूजन सहित कई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वसंत पंचमी को लेकर अहले सुवह से इलाका भक्तिमय बन गया। शहर स्थित नागेश्वर स्थान मंदिर परिसर में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ से मंदिर परिसर छोटा पड़ गया। भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस और सेवा दल के लोगो को काफी मशक्कत करनी पड़ी। देर शाम तक भीड़ के कारण यातायात व्यवस्था पर भी इसका प्रतिकूल असर देखा गया। इसके अलावा ग्रामीण इलाके के देवालयों में भी तिल रखने की जगह नहीं थी।

बेलसंड: बसंत पंचमी के अवसर पर जन-जन के आस्था के केंद्र पर जलाभिषेक के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा।दमामी मठ स्थित बाबा ईशान नाथ के पट्ट खुलते हीं डंडी कामरियों ने जलाभिषेक शुरू किया।इसके बाद महिला एवं पुरुष श्रद्धालुओं की लंबी लाइन लग गई।भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पूर्व में हीं पाइप से बैरीके¨टग कर महिला एवं पुरुष श्रद्धालुओं के लिए अलग - अलग कतार लगी थी। श्रद्धालुओं को कतारबद्ध करने के लिए पु अ नि रामलगन यादव के नेतृत्व में दर्जनों महिला एवं पुरुष जवान तैनात थे। महंत चितरंजन गिरी श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर के गर्भगृह की सतत निगरानी कर रहे थे।सूर्यास्त तक श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला जारी रहा। बाबा के दर्शन के लिए जिले के विभिन्न क्षेत्रों के अलावा आसपास के कई जिलों के श्रद्धालु बड़ी संख्या में जलाभिषेक को पधारे थे। इस अवसर पर पूर्व की भांति इस बार भी मेला का आयोजन किया गया।

रीगा: प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों शिव मंदिरों में बसंत पंचमी के अवसर पर रविवार के अहले सुबह से श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया प्रखंड के दर्जनों मंदिर में जलाभिषेक के लिए सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी थी। मिल चौक स्थित तारकेश्वर नाथ मंदिर वह बगही धाम स्थित शिव मंदिर को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। वहीं सोनार बाजार शिव मंदिर, रामनगर शिव मंदिर, कुशमारी शिव मंदिर, रामपुर गंगोली शिव मंदिर, अन्हारी शिव मंदिर के अलावा मुख्य रूप से बखरी गांव स्थित अ‌र्द्ध् नागेश्वर नाथ मंदिर में भी श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप