सीतामढ़ी। जिला पदाधिकारी सुनील कुमार यादव की अध्यक्षता में अभियोजन से संबंधित बैठक समाहरणालय के परिचर्चा भवन में आयोजित की गई। जहां जिले के विभिन्न न्यायालय में लंबित मामलों की समीक्षा की गई। लोक अभियोजक/विशेष लोक अभियोजक से प्राप्त प्रतिवेदन की भी समीक्षा की गई। समीक्षा के क्रम में कई मामलों में पाया गया कि गवाह की उपस्थिति पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अभाव में एवं चिकित्सकों की उपस्थिति नहीं होने के कारण लंबित है। जिसे सिविल सर्जन से इस संबंध में ससमय कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी द्वारा उत्पाद अधिनियम, पाक्सो एक्ट एवं अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार (अधिनियम) के लंबित वादों को प्राथमिकता के आधार पर ससमय निष्पादित करवाई करने का निर्देश दिया गया। वहीं पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय द्वारा लोक अभियोजक/अपर लोक अभियोजक/विशेष लोक अभियोजक/ जिला अभियोजन पदाधिकारी से स्पीडी ट्रायल हेतु जघन्य एवं गंभीर अपराधों की सूची बनाने का अनुरोध किया गया। बैठक के अंत में जिला पदाधिकारी द्वारा लोक अभियोजक, अपर लोक अभियोजक, विशेष लोक अभियोजक, एवं अभियोजन पदाधिकारियों से सरकार का पक्ष निष्ठा पूर्वक मजबूती से रखने का अनुरोध किया गया। साथ ही लंबित मामलों में आरोप गठित करने की संख्या में वृद्धि के लिए कार्य करने का अनुरोध किया गया। बैठक में लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी महेश कुमार दास, पीपी अरुण कुमार सिंह, एपीपी, डीपीओ, एसडीपीओ, एपीओ उपस्थित थे। जिले में अपराध एवं अपराधियों पर लगाम लगाने को लेकर डीएम-एसपी ने अभियोजन पक्ष के साथ की बैठक। मुकदमों की सुनवाई में सरकार का पक्ष निष्ठा पूर्वक व मजबूती से रखने का डीएम ने अभियोजन पक्ष से किया अनुरोध।

Edited By: Jagran