सीतामढ़ी। कोरोना वायरस से निपटने को लेकर सरकार चाहे जितनी सजग हो। लेकिन, पुपरी में लॉकडाउन मजाक बन कर रह गया है। यहां न तो शारीरिक दूरी का पालन किया जा रहा है और न जिला प्रशासन द्वारा जारी साप्ताहिक रोस्टर का अनुपालन होता दिखाई दे रहा। कोरोना वायरस से बेखौफ लोग आम दिनों की तरह बिक्री और खरीदारी कर रहे है। हद तो यह हो गई है कि अब भीड़ के कारण आम दिनों की तरह जाम लगने लगी है। शुक्रवार को टावर से नागेश्वर स्थान तक सड़क पर भीड़ के कारण रुक-रुक कर जाम लगती रही।

मनमर्जी खुलती दुकाने, शर्तो का पालन नहीं : सरकार की तरफ से 31 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। इस अवधि में कुछ शर्तों के साथ छूट मिली है। लेकिन, यहां के हालात कुछ अलग है। सुवह हो शाम शहर में नजारा देखकर ऐसा लगता है कि यहां शायद लॉकडाउन लागू नही है। जिला प्रशासन के निर्देश से इतर सभी प्रकार की दुकानें खुल रही है। चाय-नाश्ता, तंबाकू, पान की दुकानदार भी रोज दुकाने खोल रहे हैं। जिन दुकान व प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति है वे भी साप्ताहिक रोस्टर व समय का अनुपालन नहीं कर रहे। टावर चौक से लेकर केला मंडी, सब्जी मंडी में सजी दुकानों पर बेखौफ बिक्री व खरीदारी हो रही है।

शर्तो का पालन नहीं, जाम से बढ़ी परेशानी : लॉकडाउन की उड़ रही धज्जियों से प्रशासन की भूमिका पर सवाल खड़ा होने लगा है। चौंकाने वाली बात यह है कि दुकानों और मंडियों में खरीदरी को पहुंच रहे लोग बिना मास्क के ही दुकानों पर जा रहे हैं और शारीरिक दूरी का भी पालन नहीं कर रहे हैं। किसी भी दुकान व प्रतिष्ठानों में ग्राहकों के लिए सेनिटाइजर की व्यवस्था नही है। पूर्व की तरह टावर चौक को ठेला व फुटकर बिक्रेताओं ने अतिक्रमण कर लिया है। लिहाजा सड़क पर जाम लगने लगी है। यही हाल लोहापट्टी व टावर से स्टेशन जाने वाली मंडी की है। इन स्थानों पर बेखौफ सभी तरह की निर्धारित रोस्टर व समय के विपरीत दुकानें खुल रही है।

Edited By: Jagran