सीतामढ़ी। भारत-नेपाल सीमा पर सुरसंड के भिठ्ठा के निकट सड़क निर्माण को लेकर अधिग्रहित की गई भूमि के भूधारी कम मुआवजा मिलने की बात कहकर मुआवजा लेने से इन्कार करते हुए उसे खाली नहीं कर रहे थे। इस कारण शनिवार को सड़क निर्माण के लिए जमीन देने वाले किसान सड़क निर्माण नहीं होने दे रहे थे। सूचना मिलने पर पुपरी एसडीएम नवीन कुमार के नेतृत्व में सुरसंड, परिहार, बेला, चोरौत के सभी बीडीओ, सीओ, थानाध्यक्ष, भूमापक, जिला मुख्यालय व सभी थाने से भारी संख्या में शस्त्र बल पहुंचे। एसडीएम नवीन कुमार ने उपस्थित किसानों बताया कि भारत -नेपाल सीमा है। सामरिक दृष्टिकोण से यहां सड़क निर्माण जरूरी है। श्रीखंडी भिट्ठा पूर्वी कंटाही पर पहुंचकर किसानों को बुलाकर सड़क निर्माण करने देने को कहा। इस तरह प्रशासन द्वारा पहल करने के बाद सड़क निर्माण कार्य जारी रहा।

किसानों ने उपस्थित पदाधिकारियों से कहा कि हमलोगों को मुआवजा राशि कम मिलने से हमलोग लेने से इनकार कर दिया। ऐसे 2013 किसान हैं।

हम लोगों ने न्यायालय में मुकदमा किया जो अभी भी चल रहा है। जब तक हमलोग को उचित मुआवजा नहीं मिलेगा सड़क निर्माण नही होने देंगे। एसडीएम नवीन कुमार ने किसानों को कहा कि आप लोग मुजफ्फरपुर प्राधिकार में जाकर सरकारी मूल्य के अनुसार भूमि के मुआवजा मिलेगा। बावजूद लोग अड़े रहे। बाद में एसडीएम कुमार ने किसानों को समझा बुझाकर सड़क निर्माण कार्य शुरू कराया और अधिग्रहित जमीन से अतिक्रमण हटाया गया। मौके पर पुपरी डीएसपी संजय कुमार सिंह,पुपरी राजस्व अधिकारी नर्मदा श्रीवास्तव, सुरसंड बीडीओ देवेन्द्र कुमार,सीओ संजय कुमार, थाना अध्यक्ष सह इंस्पेक्टर नवलेश कुमार आ•ाद, भिट्ठा ओपी प्रभारी प्रेमजीत सिंह, कुम्मा ओपी प्रभारी विनोद, नानपुर बीडीओ चंद्रमोहन पासवान, चोरौत बीडीओ दिवाकर कुमार, सीओ नीतेश कुमार, थाना अध्यक्ष जितेंद्र कुमार सिंह, परिहार थानाध्यक्ष पंकज कुमार, बेला थानध्यक्ष सुभाष मुखिया बाजपट्टी बीडीओ व सीओ थे।

Edited By: Jagran