सीतामढ़ी । जिला पदाधिकारी सुनील कुमार यादव ने वरीय अधिकारियों के साथ डेडिकेटेड कोविड सेंटर महिला आइटीआइ एवं सदर अस्पताल पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को कोरोना की संभावित तीसरी लहर के आलोक में सभी तैयारियां पूर्ण कर लेने का निर्देश दिया। कोविड सेंटर में ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता का भी जायजा लिया। जिलाधिकारी ने संपूर्ण परिसर की साफ-सफाई को लेकर भी निर्देश दिए। उन्होंने उपस्थित सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि कोविड सेंटर में सभी आवश्यक दवाइयों, उपकरणों, ऑक्सीजन आदि की उपलब्धता बनी रहे ताकि, मरीजों को ससमय सही इलाज हो सके। जिलाधिकारी ने सदर अस्पताल पहुंचकर निर्मित हो रहे ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लिया और निर्देश दिया कि जितनी जल्द हो सके ऑक्सीजन प्लांट को चालू करें। इसके अतिरिक्त उन्होंने सदर अस्पताल में दो अन्य लगाए जाने वाले ऑक्सीजन प्लांट के जल्द से जल्द स्थापित करने को लेकर सिविल सर्जन को आवश्यक निर्देश भी दिए। उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि कोरोना जांच की आरटीपीसीआर मशीन को हर हाल में अतिशीघ्र चालू करवाएं। ताकि जिले के लोगों की आरटीपीसीआर जांच अपने ही जिले में ससमय हो सके। जिलाधिकारी ने नवनिर्मित मातृ-शिशु अस्पताल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिया कि हर हाल में स्वास्थ्य सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार करें। अस्पताल परिसर में अनावश्यक व्यक्ति या किसी भी प्रकार के बिचौलिए नजर नहीं आने चाहिए। अन्यथा जवाबदेही तय कर कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि हमे अधिक से अधिक टेस्टिग एवं तीव्र गति से टीकाकरण के द्वारा जिले में कोरोना के संक्रमण को रोकना है। उन्होंने कहा कि जिले में कोरोना का टीका सरकार से एक सतत प्रक्रिया के तहत प्राप्त होता है। जिले में अभी तक लगभग साढ़े पांच लाख लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। 22 टीका एक्सप्रेस सहित पर्याप्त संख्या में टीका केंद्र बनाए गए हैं। अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी टीकाकरण केंद्रों पर पूरी साफ-सफाई के साथ कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करवाएं। उक्त निरीक्षण में उप विकास आयुक्त तरनजोत सिंह, सिविल सर्जन, डीपीएम हेल्थ, ओएसडी प्रशांत कुमार के साथ अन्य पदाधिकारी एवं कर्मी मौजूद थे।