शेखपुरा । बिजनेस न हो पाने की वजह से शेखपुरा में इंडियन ओवरसीज बैंक की शाखा को बंद कर दिया गया है। बैंक की यह शाखा शेखपुरा में दाल कुआं के पास खोली गई थी। इंडियन ओवरसीज बैंक की यह शाखा जिला में इकलौती थी। बैंक शाखा के बंद हो जाने से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। इस बाबत जिला के लीड बैंक अधिकारी ने बताया कि जरूरी बिजनेस नहीं मिलने की वजह से इस बैंक शाखा को बंद करना पड़ा है। उन्होंने बताया कि अभी शेखपुरा की इस शाखा को वारिसलीगंज शाखा में विलय कर दिया गया है उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में किसी भी बैंक शाखा के लिए मासिक कम से कम 10 करोड़ का बिजनेस होना चाहिये। मगर इंडियन ओवरसीज बैंक की उक्त शाखा का बिजनेस मुश्किल से तीन करोड़ रुपये का था। लीड बैंक पदाधिकारी ने बताया कि उक्त बैंक शाखा में लगभग तीन हजार अकाउंट थे। इन अकाउंटों में आधे से अधिक अकाउंट जनधन योजना के थे, जिसमें जमा-निकासी भी नहीं के बराबर हो रहे थे। शाखा को शेखपुरा में बंद करने से पहले सभी खाताधारक को लिखित सूचना भेज दी गई थी। उन्होंने बताया कि समूची प्रकिया पूरी करने के बाद उक्त शाखा को बंद किया गया है।

---

जिला में 19 बैंक की 59 शाखा शेखपुरा जिला में अभी 19 बैंकों की शाखायें काम कर रही है। इस बाबत जानकारी में लीड बैंक अधिकारी ने बताया कि जिला में अभी जो 19 बैंक कार्यरत हैं, उसकी 59 शाखाएं लोगों को बैंकिग की सेवा दी रही है। उन्होंने बताया कि पूर्ण शाखा के अलावे जिला में ग्रामीण इलाकों में विभिन्न बैंकों की 31 स्माल शाखायें भी काम कर रही है। जिला में अभी आबादी से अधिक विभिन्न बैंकों में अकाउंट हैं। लीड बैंक अधिकारी ने बताया कि जिला की आबादी छह लाख 36 हजार के करीब है और विभिन्न बैंकों में अकाउंट की संख्या छ: लाख 89 हजार 658 है। यह आंकड़ा दिसंबर 2018 का है। जिला में विभिन्न बैंकों की 42 एटीम है और विभिन्न बैंकों के अपने खातेदारों को दो लाख 20 हजार 424 एटीम कार्ड जारी किया हुआ है।  

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप