जागरण संवाददाता, शेखपुरा : केंद्र व राज्य सरकार के सम्मलित प्रयास से शेखपुरा जिला सूबे का पहला ऐसा जिला बन गया है जहां एक भी ऐसा गांव नहीं है जहां बिजली की पहुंच नहीं है। पंडित दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना से जिला के कुल 261 गांवों में बिजली पहुंचा दी गई है। साथ ही जिला के सभी पंचायतों में कैंप लगाकर लोगों को मुफ्त में बिजली कनेक्शन भी दिया गया है। बिजली बोर्ड आपूर्ति के कार्यपालक इंजीनियर अर¨वद कुमार ने बताया कि जिला में जो भी बिजली कनेक्शन लेने के लिए इच्छुक थे उन्हें बिजली दे दी गई है। 261 गांव के 84 हजार घरों में बिजली कनेक्शन दिया गया है। कनेक्शन देने के साथ ही इन घरों में बिजली की आपूर्ति भी की जा रही है। जिला में अब वही घर बिजली से वंचित है जो कनेक्शन लेने के लिए इच्छुक नहीं है।

--------------------------------------

14 हजार पोल और 600 किलोमीटर तार लगाने का काम शुरू

गांवों में बिजली पहुंचाने के बाद अब बिजली बोर्ड तार और पोल बदलने का काम शुरू किया है। बिजली वोर्ड के कार्यपालक इंजीनियर ने बताया कि सर्वे का काम पूरा कर लिया गया है। जिला में अब कहीं भी नंगा तार और जर्जर पोल नहीं रहेगा। सर्वे के अनुसार जिला में 600 किलोमीटर कवर वायर लगाया जाएगा और 14 हजार नया पोल लगाया जाएगा। तार बदलने में 333 हजार से एलटी तार भी बदला जाएगा। जर्जर तार के कारण जिला में करंट से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। यदि तार और पोल बदल दिया जाता है तो करंट लगने की घटनाओं को रोका जा सकता है।

-----------------------------------------------

34 नए फीडर का निर्माण काम भी शुरू

जिला में बिजली आपूर्ति की व्यवस्था को सुचारु करने के लिए 34 नए फीडरों का निर्माण भी शुरू किया गया है। वहीं खेती के लिए अबतक जिला में 300 नये ट्रांसफार्मर भी लगाया गया है। कार्यपालक अभियंता ने बताया कि 34 में से 28 फीडरों को बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। इन 34 फीडरों में 20 फीडर से खेती के लिए और 14 फीडर से गांव के घरों में बिजली आपूर्ति की जाएगी।

Posted By: Jagran